किसान देवेन्द्रका अपहरण करनेवाला धर्मान्ध शहजाद पुलिस मुठभेडमें मारा गया !


मई २७, २०१९

उत्तर प्रदेशके कैराना जैसे क्षेत्रमें सपा राजमें क्या होता था ? हिन्दू व्यापारी, हिन्दू दुकानदार, हिन्दू युवती, हिन्दू युवक इत्यादिका अपहरणकर लूटनेका और जिहादका कार्य होता था । पलायनके लिए सबसे अधिक ऐसी ही घटनाएं उत्तरदायी थीं ।

जहां भी उन्मादियोंकी संख्या बढती है, ये काम तीव्रतासे होता है, सहारनपुरमें भी उन्मादियोंने पुनः एक ऐसा ही कुकर्म किया; परन्तु उन्मादियोंको सम्भवतः ज्ञात नहीं था कि वहां योगी आदित्यनाथका शासन है ।

सहारनपुरमें मोहम्मद शहजादने अपने ३ अन्य मजहबी मित्रोंके साथ मिलकर १ हिन्दू किसान देवेन्द्र त्यागीका अपहरण कर लिया और उसके परिवारसे धन मांगने लगा ! शहजाद और उसके मित्रोंने देवेन्द्र त्यागीका अपहरणकर उसके घरपर उसीके भ्रमणभाषसे धनकी मांगके लिए फोन किया; परन्तु उन्मादी बहुल क्षेत्रोंमें योगी शासनमें पुलिस तीव्रतासे कार्यरत है और पुलिसने शहजाद और उसके मित्रोंको घेर लिया और दोनों ओरसे २० गोलियां चली । पुलिसने जब चारों ओरसे घेर लिया तो शहजाद और उसके मित्र जंगलमें भाग गए, जबकि शहजादको पुलिसकी गोली खानी पडी ।

जब गोलीबारी शांत हुई तो पुलिसको देवेन्द्र त्यागी बंधे हुए मिले और उन्हें स्वतन्त्र करवा लिया गया, जबकि शहजादके शवको पुलिसने अपने अधिकारमें ले लिया और ३ अन्य अपराधियोंको खोज रही है ।

“योगी शासन अन्तर्गत पुलिसकी यह कार्यवाही अभिन्नदन योग्य है । अभीतक सपा और बसपाके शासनमें जिहादी आश्रय पाते रहे हैं  तो उन्हें भय नहीं है; परन्तु यदि शासकगण इसीप्रकार कार्यवाही करेंगें तो जिहादी जो कुकर्म आजतक करते आए हैं, ऐसा करनेको सोचेंगें भी नहीं !”- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

स्रोत : डीबीएन



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution