“जाकिर मूसा ! मिस यू ब्रो”, आतंकीके समर्थनमें आया चण्डीगढ विश्वविद्यालयमें पढनेवाला कश्मीरका छात्र !


मई २८, २०१९

२३ मईको सेनाने दुर्दांत इस्लामिक आतंकी जाकिर मूसाको मारा था । जाकिर मूसाके मारे जानेके पश्चात जब पूरा देश सेनाके साथ खडा था, सुरक्षाबलोके  अदम्य साहस, पराक्रम तथा शौर्यके लिए उन्हें नमन कर रहा था, तभी कश्मीरी उन्मादी छात्र जाकिर मूसाकी स्मृतिमें रो रहा था तथा उसे जिंदाबाद बोल रहा था !

चंडीगढ विश्वविद्यालयमें पढनेवाले एक कश्मीरी छात्रने आतंकियोंकी शानमें एक देशविरोधी लेख साझा किया । यह लेख सुरक्षा बलोंके हाथों मारे गए कश्मीर आतंकी जाकिर मूसाको लेकर किया गया । आरोपी कश्मीरी छात्र कथित रूपसे ‘टुकडे-टुकडे गैंग’का सदस्य बताया जाता है । अपने लेखमें उसने जाकिर मूसाके लिए ‘जिंदाबाद’ और ‘मिस यू’ जैसे शब्दोंका प्रयोग किया है । इस समूचे प्रकरणको विकास जसवाल नामका एक व्यक्ति सामने लाया है । उसने लेखमें पंजाब पुलिसको टैग किया ।

इस ट्वीटमें लिखा है, ‘यह छात्र @cugharuan @Chandigarh_uni में पढता है । वह कश्मीरका रहने वाला है । उसने अभी फेसबुकपर एक लेख डाला है । उसने जाकिर मूसा जिंदाबाद लिखा है । हम पंजाब पुलिससे इसके विरुद्घ कडी कार्यवाहीकी मांग करते हैं । इस ट्वीटको पंजाब पुलिसको टैग किया गया है । हमें आशा है कि इस व्यक्तिके विरुद्ध गंभीरतासे कार्यवाही की जाएगी ।’ इसका संज्ञान लेते हुए पंजाब पुलिसने त्वरित स्थानीय पुलिसको जांच करनेको कहा । अब घरुआन पुलिस स्टेशनके अन्तर्गत इसकी जांच की जा रही है ।

“इसमें शंका नहीं है कि कश्मीरके कई छात्र आतंकके सहयोगी सिद्ध हो रहे हैं । अब समय आ गया है कि शासनको इनको मिलनेवाली विशेष छूटपर रोक लगाकर इनपर आतंकीकी भांति ही कार्यवाही करनी चाहिए । एक ओर तो हम आतंकी मार रहे हैं तो दूसरी ओर आगामी आतंकियोंको आश्रय दे रहे हैं । यह कैसी व्यवस्था है । भारत शासन त्वरित इसपर पग उठाए; क्योंकि आतंक इनके मूलमें पहलेसे ही बैठाया गया है । उन्हें पढाना तो केवल शिक्षित आतंकी बनाने समान है और साथ ही शासन मदरसोंको बन्द करें; क्योंकि वहींसे यह मानसिकता उत्पन्न होती है ! “- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

स्रोत : सुदर्शन न्यूज



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution