जिहादी देशकी मानसिकता, ४०० वर्ष प्राचीन ‘गुरु नानक पैलेस’में तोडफोड, बहुमूल्य सामान भी विक्रय कर डाला !


मई २७, २०१९

पाकिस्तानके लाहौरके नरोवाल स्थित ४०० वर्ष प्राचीन ऐतिहासिक ‘गुरु नानक पैलेस’को बदमाशोंने ध्वस्त कर दिया ! समाचारोंमें कहा गया है कि इसका बहुमूल्य सामान पाकिस्तानके पंजाब प्रांतमें विक्रय किया गया । बडी संख्यामें देश-विदेशसे श्रद्धालु यहां आया करते थे । लोगोंने इमरान शासनसे कार्यवाही करनेको कहा है । उधर, प्रशासनका कहना है कि राजस्व ब्यौरेमें इस भवनका वर्णन नहीं है ।

पाकके समाचार वाहिनियोंके (चैनल्सके) अनुसार गुरु नानक पैलेस चार तलका (मंजिलका) था । भवनकी भीतपर (दीवारोंपर) गुरु नानक जीके साथ कई भारतीय शासकोंके चित्र लगे थें । भवनमें १६ कक्ष थे ।

सूत्रोंका कहना है कि कुछ प्रभावशाली लोगोंने वक्फ विभागके साथ मिलकर भवनको ढहाया । पैलेसका निर्माण मध्यकालीन वास्तुके अनुसार किया गया था । स्थानीय लोगोंका कहना है कि वक्फ विभागको इस बारेमें सूचना दे दी गई थी; परन्तु कोई भी अधिकारी वहांपर नहीं पहुंचा ।

नरोवालके डीसी (डिप्टी कमिश्नर) वाहिद असगरका कहना है कि राजस्व ब्यौरेमें पैलेसका वर्णन नहीं है । भवन ऐतिहासिक था, इस कारण नगरपालिका समितिका ब्यौरा देखा जा रहा है । उनका कहना है कि भवनके स्वामीका अभिज्ञान भी नहीं हो पा रहा है ।

“पाकिस्तान एक ऐसा इस्लामिक आतंकी देश बन चुका है, जहां न तो इस्लामके अतिरिक्त किसी अन्य धर्मका सम्मान है और न ही उनके प्रतीकोंका या ऐतिहासिक महत्त्वकी चीजोंका और इनके यनमें किसप्रकार विष भरा है, वह इससे ही उजागर होता है । जिहादी इससे पूर्व अनेक पाकिस्तान भव्य मन्दिरोंको खण्डहर बना चुके हैं तो वे इस भवनको क्यों छोडेंगें ? इमरान खान प्रशासनका यह कहना कि राजस्व ब्यौरेमें इस भवनका वर्णन नहीं है, यह उनके वास्तविक स्वरुपको उजागर कर रहा है । विश्वके प्रत्येक देशने और संयुक्त राष्ट्रने भी इसपर अपना विरोध प्रकट करना चाहिए । ” – सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

स्रोत : भास्कर



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution