११२ पृथकतावादियोंके २१० बच्चे विदेशमें रह रहे ठाठबाटमें, कश्मीरके बच्चोंको थमाते हैं पत्थर !


जुलाई ४, २०१९

जम्मू कश्मीरके पृथकतावादी यूं तो राज्यकी कथित स्वतन्त्रताकी वकालत करते हैं, आतंकियोंकी पैरवी करते हैं और विदेशोंसे कोट्यावधि रुपयोंका चंदा एकत्रकर उसे भारत-विरोधी कार्यमें लगाते हैं; परन्तु, क्या आपको ज्ञात है कि इनके बच्चे क्या कर रहे हैं ? राज्यकी जनताको बहकानेवाले पृथकतावादी स्वयंको उनका हितैषी दिखाते हैं; परन्तु अपने बच्चोंको विदेशमें पढाते हैं । राज्यकी शिक्षा व्यवस्थासे लेकर चुनावोंमें बाधा डालनेवाले ये नेता जनताको इन सबके विरुद्ध भडकाते हैं; परन्तु अपने बच्चोंकी उच्च शिक्षा सुनिश्चित करते हैं !!

अमर उजालामें प्रकाशित समाचारके अनुसार, ११२ पृथकतावादी नेताओंके २१० बच्चे विदेशमें पढ रहे हैं । कश्मीरके बच्चोंके हाथोंमें पत्थर देकर उनका भविष्य नष्ट करनेवाले ये पृथकतावादी स्वयंके बच्चोंके भविष्यको लेकर सजग हैं । ४ हुर्रियत नेताओंके २१ पुत्र, पुत्रियां, बहनें और बहुएं अमेरिका, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, सऊदी अरब, इरान, तुर्की, मलेशिया और पाकिस्तान जैसे देशोंमें शिक्षा अर्जित कर रहे हैं । उनके सभी परिजन विदेशमें ठाठबाटका जीवन व्यतीत कर रहे हैं !!

दुख़्तरन-ए-मिल्लतकी नेता आसिया अंद्राबीके पुत्रने मलेशियामें शिक्षाग्रहण किया है और आतंकी जहूर वटालीने उसका पूरा व्यय वहन किया था । एनआईएने इस प्रकरणमें अंद्राबीसे पूछताछ की । अंद्राबीने पूछताछके समय स्वीकार किया कि वह और उनका संगठन विदेशसे रुपए लेता है और कश्मीरमें महिलाओंद्वारा प्रदर्शन करानेके लिए इन रुपयोंका प्रयोग किया जाता है । हुर्रियतके पुराने नेता सैयद अली शाह गिलानीके पुत्रने पाकिस्तानसे एमबीबीएसकी शिक्षा ली है ।

इसीप्रकार एक अन्य कश्मीरी नेता बिलाल लोनका तो पूरा परिवार ही विदेशमें रहता है । मुस्लिम लीगके मोहम्मद यूसुफ मीर और फारूक गतपुरीकी पुत्रियां पाकिस्तानमें हैं । इन पृथकतावादियोंको पाकिस्तानसे धन भी मिलता रहा है, जिस प्रकरणमें एनआईए जांच कर रहा है ।

विचित्र है कि आतंकियोंका कार्य करनेवाले पृथकतावादी इस देश संरक्षण कैसे पा रहे हैं, यह समझसे परेय है । इन्हें संरक्षण देनेवाले नेता कठोर दण्डके पात्र है । “- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

स्रोत : ऑप इण्डिया



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution