बंगालके बर्धमानमें मिला बीजेपी कार्यकर्ताका शव, टीएमसीपर हत्याका आरोप !!


मई ३०, २०१९

लोकसभा मतदानके परिणामके पश्चात भी पश्चिम बंगालके ममता शासन और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के मध्य प्रहार जारी हैं । बीजेपीकी ओरसे दावा किया गया कि पश्चिम बंगालमें राजनीतिक हिंसाके चलते उसके ५४ कार्यकर्ताओंकी हत्याएं हुई हैं । इस दावेको ममताने झूठा बताया । इस मध्य बर्धमान जनपदमें बीजेपीका एक कार्यकर्ता मृत अवस्थामें मिला है । इस बार भी बीजेपीने कार्यकर्ताकी हत्याके पीछे तृणमूलका हाथ बताया है ।

केतुग्राम पुलिस थानेके एक अधिकारीने कहा कि सुशील मंडलकी (५०) चाकू मारकर हत्या कर दी गई और हम आरोपीकी खोज कर रहे हैं । मंडलको भाजपाका कार्यकर्ता बताया जा रहा है । सूत्रोंके अनुसार, मंडल, मोदीके शपथ ग्रहण समारोहको मनानेके लिए बीजेपीके ध्वज लगा रहे थे । इसी मध्य उनपर आक्रमण किया गया । यह पूछे जानेपर कि क्या परिवारने हत्यासे किसी राजनीतिक सम्बन्धकी परिवाद (शिकायत) की है तो अधिकारीने कहा, ‘एक व्यक्तिकी मृत्यु हुई है, जबकि दूसरा आरोपी है और इसे लेकर सदैवकी भांति राजनीतिक दोषारोपणका खेल आरम्भ हो गया है । हम प्रकरणकी जांच कर रहे हैं ।’

उधर, बुधवार, २९ मईको पश्चिम बंगालकी मुख्यमन्त्री ममता बैनर्जीने अपने पूर्वके वक्तव्यसे पलटते हुए कहा कि उन्‍होंने प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदीके शपथ ग्रहण समारोहमें सम्मिलित नहीं होनेका निर्णय किया है । ममताने कहा था कि शपथ ग्रहण लोकतन्त्रकी महत्वपूर्ण परम्परा है; परन्तु इसे राजनीतिक लाभके लिए प्रयोग किया जा रहा है । ममता बैनर्जीने पश्चिम बंगालमें बीजेपीके चुनावी हिंसामें ५४ राजनीतिक हत्‍याओंके दावेके विरोधमें यह निर्णय किया है । ममताने कहा कि ये मौतें ‘राजनीतिसे जुडी नहीं हैं ।’

“भाजपाके एकके पश्चात एक कार्यकर्ताकी हत्या हो रही है और ममता कह रही हैं कि इसमें उनके दलका हाथ नहीं है ! ममता दीदी, तो क्या कार्यकर्ता आत्महत्या कर रहे हैं ! ममता बैनर्जीने जिसप्रकार बंगालकी स्थिति की है और जिसप्रकार हिन्दुओं, श्रीरामके लिए और भाजपाके लिए विष बोया है, उससे तो यह सब होना सहज है । तो जब मुख्यमन्त्री विषका बीज बो सकती हैं तो उसका उत्तरदायित्व क्यों नहीं ले सकती हैं ? “- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

स्रोत : नभाटा



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution