अन्तर्राष्‍ट्रीय समाचार

‘अमेजॉन प्राइम’के ‘ताण्डव’पर उत्तर प्रदेश पुलिस कठोर, ३.५ घण्टे पूछताछ, अनेक प्रश्न अनुत्तरित


२४ फरवरी, २०२१      उत्तर प्रदेशकी पुलिसने हिन्दुओंका अपमान करनेवाली ‘ताण्डव’ ‘वेब सीरीज’को लेकर कार्यवाही आरम्भ कर दी है । इस प्रकरणमें मंगलवार, २३ फरवरीको वक्तव्य प्रविष्ट करानेके लिए ‘अमेजॉन प्राइम’की मुख्य अधिकारी अपर्णा पुरोहित लखनऊके हजरतगंज पुलिस थाने पहुंची । दोपहरके २ बजे पहुंची अपर्णाका वक्तव्य बन्द कक्षमें प्रविष्ट किया गया । लगभग […]

आगे पढें

अमेरिकामें खालिस्तानियोंने हिन्दू चिकित्सकके निवासके समक्ष किए अपमानजनक उद्घोष


२४ फरवरी, २०२१      अमेरिकाके कैलिफोर्नियामें डॉ. जापराके घरके समक्ष, खालिस्तानियोंने प्रदर्शन किए ।  खालिस्तानियोंने डॉ. जापराका नाम लेकर अपमानजनक शब्दोंमें उद्घोष किए ।     डॉ. जापराने कृषिके नूतन अधिनियमोंके समर्थनमें गाडियोंकी एक ‘रैली’ निकालनेके लिए, अपने ‘फेसबुक’पर सम्मिलित होनेकी बात की थी । उसने लिखा था कि एक किसानका पुत्र होनेके कारण […]

आगे पढें

कृषि विधानके विरुद्ध जर्मनीमें हुए कांग्रेसके प्रदर्शनमें फहराए गए थे पाकिस्तानी ध्वज, भाजपाका वक्तव्य 


२४ फरवरी, २०२१        जर्मनीमें ‘इण्डियन ओवरसीज कांग्रेस’द्वारा कृषि विधानोंके विरुद्ध दिसम्बर २०२० में विरोध प्रदर्शन आयोजित किया गया था । मुम्बईके भाजपा प्रवक्ता सुरेश नखुआने आरोप लगाया है कि इसमें पाकिस्तानी ध्वज फहराया गया था । सुरेश नखुआने राज शर्माके नामका उल्लेख किया, जो कथित रूपसे ‘इंडियन ओवरसीज कांग्रेस’के पदाधिकारी हैं । […]

आगे पढें

हिन्दू देवी-देवताओंपर ‘कार्टून’, पैगम्बर मोहम्मदके नामपर क्षमायाचना: ‘बीबीसी’ हिन्दीकी हिन्दू घृणायुक्त मानसिकता


१९ फरवरी, २०२१          असहिष्णुता, अभिव्यक्तिकी स्वतन्त्रता तथा हिन्दू धर्मद्रोहयुक्त मानसिकतासे ग्रसित वामपन्थी ‘चैनल’ बीबीसी हिन्दी इस बार मुसलमान सङ्गठनोंका कोपभाजन बन गया है । उसकेद्वारा एक दृश्यपट साझा किया गया था, जिसका शीर्षक था-“पाकिस्तानके इस कार्यसे अहमदिया मुसलमानोंमें भय व्याप्त क्यों है ?” इसमें मोहम्मद ‘पैगम्बर’का चित्र प्रदर्शित किया गया था […]

आगे पढें

‘टूलकिट’ प्रकरणमें सामने आ रहा विदेशी कार्यकर्ता ‘फैक्टचेकर’का नाम


१६ फरवरी, २०२१     देहली पुलिसने सोमवारको ‘टूलकिट’ प्रकरणमें बताया है कि ‘टूलकिट’की आडमें भारतके विरुद्ध किए गए अन्तरराष्ट्रीय षड्यन्त्रकी जांचमें पीटर फ्रेडरिच नामक व्यक्तिकी भूमिका सामने आई है ।     भारतके विरुद्ध वैश्विक स्तरपर चलाए गए इस षड्यन्त्रमें एक विदेशी मूलके सन्दिग्ध व्यक्तिका नाम सामने आ रहा है । भजन सिंह भिंडर […]

आगे पढें

गायिका इब्तिसामने छोडा इस्लाम, बताया ‘ये आतङ्कका मजहब’


१५ फरवरी, २०२१       “मुसलमान धर्म आतङ्क और पाखण्डका धर्म है । ये महिलाओंसे घृणा करता है, उन्हें दबाता है और उनके साथ हिंसा कराता है । इस्लाम कभी महिलाओंको उनका सम्पूर्ण अधिकार नहीं देता ।” कुवैतकी गायिका इब्तिसाम हामिदने यह कहकर इस्लाम छोडकर यहूदी धर्म अपना लिया है, जिसके पश्चात कई मुसलमान […]

आगे पढें

 ‘गूगल ट्रांसलेशन’ने ‘गॉड ब्लेस यू’का हिन्दी अर्थ बताया, ‘अस्सलाम वालेकुम’


१५ फरवरी, २०२१      सामाजिक जालस्थलोंपर ‘गूगल ट्रांसलेशन’को लेकर विवाद उत्पन्न हो गया है । अनेक लोगोंद्वारा प्रकरणसे सम्बन्धित चित्र भी साझाकर इसके साक्ष्य भी प्रस्तुत किए जा रहे हैं । उनके अनुसार, जब ‘गूगल ट्रांसलेशन’पर अंग्रेजी भाषामें ‘गॉड ब्लेस यू’ लिखते हैं तो गूगल इसका अनुवाद ‘अस्सलाम वालेकुम’ करके दिखाता है, जिसका हिन्दी […]

आगे पढें


१४ फरवरी, २०२१        भारतमें किसानोंके प्रदर्शनको लेकर कनाडाके पक्ष परिवर्तनके कारण कनाडाके प्रधानमन्त्री जस्टिन ट्रूडो चर्चामें हैं । दूसरी ओर कनाडाने बताया है कि जस्टिन ट्रूडोने भारतके प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदीके साथ चर्चा की और इस मध्य किसानोंके प्रदर्शनके प्रकरणको उठाया गया । कुछ ही दिनों पहले किसान आन्दोलनको लेकर भारतमें आलोचना झेलनेवाले […]

आगे पढें

जाकिर नाइकने बताया ‘हस्तमैथुन’को योग्य


१२ फरवरी, २०२१         रविवार, ७ फरवरीको कट्टरवादी इस्लामी उपदेशक मलेशियामें रह रहे भगोडे ‘डॉक्टर’ जाकिर नाइकने हस्तमैथुनकी इस्लाम अनुसार व्याख्या करते हुए कहा कि ये मुसलमानोंद्वारा पूछा जानेवाला सबसे सामान्य प्रश्न है । एक बडे इस्लामी ‘वेबसाइट’पर भी कई मुसलमानोंने इसे लेकर आदेश (फतवा) जारी करनेको कहा है । उसने कहा […]

आगे पढें

भारत विरोधमें बौराई अमेरिकी उपराष्ट्रपतिकी भतीजी मीना हैरिस, कर रही हिंसात्मक प्रदर्शनका समर्थन


१० फरवरी, २०२१      अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिसकी भतीजी मीना हैरिसने भी ‘किसान आन्दोलन’के समर्थनमें कई ‘ट्वीट’ किए हैं; इसलिए जबसे वैश्विक षड्यन्त्रका सत्य सामने आया है, जिसका उद्देश्य केवल भारत विरोधी ‘एजेंडे’का प्रचार और किसान आन्दोलनकी आडमें २६ जनवरी जैसी हिंसाको बढाना था और भारतीय शासनने षड्यन्त्रके मूर्तरूप लेनेसे पूर्वही हस्तक्षेपकर कडी पराजय […]

आगे पढें

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution