डेविड फ्राव्लेका प्रखर वक्तव्य, भारतीय वामपंथी चाहते है कि हिन्दू धर्मनिरपेक्ष बना रहे, ताकि उनकी योजना चलती रहे !


दिसम्बर ८, २०१८

भारतके सभी वामपंथी हिन्दू नामोंके साथ ही घूमते है, परन्तु सभी धर्मान्तरित है, या तो वे मुस्लिम है अथवा इसाई, परन्तु सभी हिन्दू नामोंके साथ ही घूमते है, उदाहरणके रुपमें कन्हैया कुमार, जो हिन्दू धर्मको अपशब्द कहकर इस्लाम, मुहम्मद, कुरानकी प्रशंसा करता है ! भारतीय वामपन्थी कभी भी यह नहीं चाहते कि भारतके हिन्दू एकत्र हो, हिन्दुओंमें जागरूकता आए, हिन्दुओंमें राष्ट्रवाद आए, क्यंकि यदि हिन्दुओंमें राष्ट्रवाद आएगा, हिन्दुओंमें एकजुटता और जागरूकता आएगी तो भारतीय वामपन्थियोंकी योजना चल नहीं सकेगी ।


भारतीय वामपंथियोंकी योजना है, भारतसे हिन्दुओंको समाप्त करना, जहां ईसाई अधिक है, वहां ईसाई राज्य बनवाना, और जहां मुसलमान अधिक है, वहांपर मुस्लमान राज्य बनवाना ।

सबसे बडी दुविधा यह है कि भारतके हिन्दू इन वामपंथियोंके षडयन्त्रमें सदैव ही फंस जाते है, चूंकि वो इनको हिन्दू समझते हैं, इनके हिन्दू नामोंके कारण, परन्तु कुछ लोग इन वामपंथियोंको अच्छेसे समझते है, जैसे कि लेखक डेविड फ्राव्ले ।

@davidfrawleyved
Why are India’s leftists so afraid of nationalism in India, particularly among Hindus, but have a soft spot for terrorists, jihadis and Pakistan?

डेविड फ्राव्लेका कहना है कि भारतीय वामपंथी नहीं चाहते कि हिन्दुओंमें राष्ट्रवाद आए, अन्यथा उनकी योजना नहीं चलेगी, हिन्दुओंमें राष्ट्रवाद आएगा तो भारतका इसाईकरण और इस्लामिकरण नहीं हो सकेगा !

अभी कल ही उडी आक्रमणको लेकर एक चलचित्रका ट्रेलर प्रसारित हुआ था, उसे देखकर वामपंथी बौखला गए, और उस चलचित्रको विषैला बताने लगे, जबकि उसमें भारतीय सेनाके शौर्यको दिखाया गया है, उसमें आतंकवादियोंकी वास्तविकताको दिखाया गया है ।

अब ये चलचित्र देश देखेगा तो देशमें सेनाके प्रति सम्मान बढेगा, और देशमें राष्ट्रवाद सशक्त होगा, और यदि ऐसा होगा तो वामपंथियोंकी योजना नहीं चलेगी, इसी कारण अभीसे वामपंथियोंने सेना विरोधमें इस चलचित्रको विषैला घोषित कर दिया है ।

 

“वस्तुत: यदि किसीका बौद्धिक विकास पूर्ण हुआ होगा तो वह भारतमें हिन्दू विरुद्घ हो रहे षडयन्त्रोंको जान सकेगा और उन लेखक फ्रायड कुछमें से हैं । सत्यकी हानि सत्यके जानकारके मौनसे अधिक होती है; अतः लेखक निस्सन्देह अपने प्रखर सत्यके लिए अभिनन्दनके पात्र है !”- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

 

स्रोत : डीबीएन न्यूज



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution