‘आइएसआइएस’ने ‘सेक्स स्लेव’ बना कर विश्वभरमें मुझे बेचा’, पीडित लैलाकी भयावह व्यथा !


अक्तूबर २३, २०१८

आतंकी संगठन ‘आईएसआईएस’के चंगुलसे बच निकलने वाली पीडित लैला तालो खुधेर अलीने अपने साथ हुए अत्याचारोंकी भयावह कहानी सुनाई है । मुम्बईके प्रेस संघमें (क्लबमें) जब वह अपनी वेदना बता रही थीं तो वहां उपस्थित लोगोंमें आंखें इसपर नम हो आई थीं । लैला तालोने बताया, “आईएसआईएसने भिन्न-भिन्न देशोंमें ९ बार मुझे बेचकर मेरा यौन शोषण किया । मेरे पुलिस अधिकारी पतिको अब भी ‘आईएसआईएस’ने बन्धी बनाया हुआ है ! मैं किसी प्रकार एक शिविरमें बिना किसी सहायताके जीवन यापन कर रही हूं । संयुक्त राष्ट्र और अन्य कोई मेरी सहायताको नहीं आ रहा ।”

इस अवसरपर लैलाके साथ-साथ इदरीस बशर साइलो तहा भी उपस्थित थे, जो स्वयं आईएसआईएसके शिकार रह चुके हैं । लैलाने यह भी बताया कि कैसे उन जैसी और भी यजीदी महिलाओंकी जालस्थलपर क्रय-विक्रय होती है । उन्होंने बताया, “पहले हमारे बारेमें जानकारी जालस्थलपर डाल दी जाती थी, जिसके पश्चात् कोई भी अपनी रूचिसे बहुत ही अल्प मूल्य देकर हमें क्रय कर सकता था !” ३0 वर्षीय लैलाने बताया कि इराकके कुर्दिस्तानके एक गांवमें अपने पति और दो बच्चोंके साथ वह रह रही थीं । इस मध्य ‘आईएसआईएस’का आक्रमण हुआ और उनकी और उन जैसी दूसरी महिलाओंका जीवन नरक बन गया ।

लैलाने बताया कि २ वर्ष, ८ माह और ९ दिवसकी अवधिमें उन्हें ‘सेक्स स्लेव’ बना कर लगभग ९ बार भिन्न-भिन्न देशोंमें विक्रय किया गया । इसमें इराक, बगदाद और सऊदी अरब सम्मिलित हैं । उन्होंने बताया कि उनकी भांति ही बडी संख्यामें महिलाएं हैं, जिनका जीवन ‘आईएसआईएस’के चंगुलमें फंसकर नरक बना हुआ है ।

“ये आतंकी अब भारतमें भी पांव पसारने लगे हैं, जो एक भयावह सूचना है । केन्द्र शासनसे यही अपेक्षा है कि इन आतंकियों व इनका पोषण करने वाले राष्ट्रद्रोहियोंका अन्त करें, अन्यथा स्थिति अत्यन्त विकट हो सकती है”- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

 

स्रोत : नभाटा



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution