विश्व हिन्दू परिषदने बंगालकी युवतियोंको ‘लव-जिहाद’से बचानेके लिए अभियान छेडा


सितम्बर १३, २०१८

नवरात्रिसे पूर्व विश्व हिन्दू परिषदकी (विहिप) पश्चिम बंगाल इकाईने ‘लव जिहाद’से हिन्दू युवतियों और महिलाओं को सचेत किया है और उन्हें चेतावनी जारी कर मुस्लिम युवकों से दूर रहनेका परामर्श दिया है । विहिपने ‘क्या करें और क्या न करें’की एक सूचि जारी की है । यह राज्यमें वितरण करवाई है । विहिपने परामर्श दिया है कि मुस्लिम युवा अभिनेताकी भांति हिन्दू लडकियोंके समक्ष आएंगे और नाटक कर उन्हें अपने षडयन्त्रमें फंसानेका प्रयास करेंगे । विहिपने कहा है कि वो आपको बहुमूल्य उपहार भी देंगे और अच्छा-अच्छा भोजन भी खिलाएंगे; लेकिन सचेत रहना, उसके षडयन्त्रमें फंसना मत ! जब भी कोई प्रेमजालमें फांसनेका प्रयास करे तो उसकी सूचना तुरन्त निकटवर्ती थानेको दें या विहिपको बताएं !

विहिपने अपनी चेतावनीमें विवाहित हिन्दू महिलाओंसे पारम्परिक मंगलसूत्र पहनने, माथेपर सिन्दूर लगाने और हाथोंमें शंखा चूडी पहननेका परामर्श दिया है और कहा है कि हिन्दू होनेपर गर्व अनुभव करें । विहिपका आरोप है कि पैसे लेकर कुछ मुस्लिम युवक हिन्दू महिलाओंको फांसनेके लिए ‘लव जिहाद’ छेड रहे हैं । विहिपने ‘दुर्गा वाहिनी’ और ‘बजरंग दल’के कार्यकर्ताओंको भी निर्देश दिया है कि वो विज्ञापन और पुस्तिका (बुकलेट) छपवाकर अभियान चलाएं और अगर कोई युवती ‘लव जिहाद’ पीडित है तो उसे अपने पतिको हिन्दू बनानेके लिए प्रेरित करे ।

बता दें कि कुछ माह पूर्व कोलकाता पुलिसने ‘फेसबुक’पर लव जिहादसे सम्बन्धित लेखोंके विरुद्ध जांच आरम्भ की है । ‘हिन्दुत्व वार्ता’ नामक संगठनने ‘फेसबुक’पर १०२ ऐसे युग्मके (कपल) बारेमें सूचना  डाली थी, जिन्होंने अन्तर धार्मिक विवाह किया था और हिन्दू महिलाओंको ‘लव जिहाद’के नामपर मुस्लिम बनाया जा रहा था । ‘इण्डियन एक्सप्रेस’से बात करते हुए विश्व हिन्दू परिषदके आयोजन सचिव सचिंद्रथ सिन्हाने कहा कि यह एक ऐसा प्रकरण है जिसके विरुद्ध हम पूरे बंगालमें जागरूकता अभियान चला रहे हैं । उन्होंने कहा कि ‘लव जिहाद’ पश्चिम बंगालमें एक बडी और गम्भीर समस्या है ।

 

“विहिपद्वारा आयोजित यह कार्यक्रम स्वागत योग्य है । हिन्दू युवतियोंको जागृति व शिक्षणकी अत्यधिक आवश्यकता है, जिससे धर्मनिरपेक्षताके इस भूतके पाशसे बाहर आए और सत्य देख कि इन धर्मद्रोहियोंका प्रेमसे कोई लेना-देना नहीं है” – सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

 

स्रोत : जनसत्ता



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution