तेलंगानामें ९ माहकी बच्चीसे दुष्कर्म व हत्यापर हिन्दू विधायक राजा सिंह बरसे प्रशासनपर !


जुलाई ३, २०१९

तेलंगानामें ९ माहकी बच्चीसे हुए दुष्कर्मके पश्चात वहांके एकमात्र भारतीय जनता पार्टी विधायक टाईगर राजा सिंह राज्य शासनपर बरसे । विदित हो कि मासूम बच्चियोंके विरुद्घ सबसे वीभत्स रूप तेलंगानाके वरंगल जनपदके हनमकुंडा गांवमें देखनेको मिला, जहां एक नरपिशाच कहे जा सकनेवाले हवसीने अपने माता-पिताके साथ सो रही मात्र ९ माहकी एक बच्चीका पहले तो अपहरण कर लिया और उसके पश्चात दुस्कर्मकर उसे मार डाला !! इस घटनाने एक बार पुनः देशमें दुष्कर्म करनेवालोंके विरुद्ध एक आक्रोशकी लहर दौडा दी है और लोग ऐसे पिशाचोंको अविलम्ब मृत्युदण्ड देनेकी मांग करने लगा ।

वहीं तेलंगानामें भारतीय जनता पार्टीके एकमात्र विधायक व भारतके युवाओंमें हिंदुत्वके सबसे बडे नेताओंमें से एक भाग्यनगरके (हैदराबादके) शेर राजा सिंहने अपने प्रदेश तेलंगाना शासनको खरी खोटी सुनाई है । उन्होंने राज्यके मुख्यमन्त्री के.चंद्रशेखर रावको पडोसी प्रदेश आन्ध्रके स्थानपर थोडी दूर पडनेवाले उत्तर प्रदेशसे सीख लेनेकी बात कही । विधायक टी.राजा सिंहने कहा कि तेलंगानाके मुख्यमन्त्री प्रतिबद्ध नहीं लगते ।

राजा सिंहने कहा कि इन पिशाचोंको दण्ड दिलाना हो तो तेलंगानाके मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथसे सीखें, जहांपर बच्चियोंसे दुष्कर्म करनेवालेको सीधे गोली मारी जाती है ! आगे उन्होंने तेलंगाना पुलिसको उत्तर प्रदेशके अतिचर्चित IPS अजय पाल शर्मासे सीख लेनेकी बात कही और स्वयं मुख्यमन्त्रीसे मांग की कि वो अपने प्रदेशमें अजय पाल शर्मा जैसे उन अधिकारियोंकी खोज करें, जिनके भयसे अपराधी स्वयं कारावास चले जाया करते हैं ।

“समूचे देशसे बच्चियों, युवतियों व महिलाओंसे दुषँकर्मके समाचार आ रहे हैं; परन्तु न केवल केन्द्र वरन राज्योंका मौन भी लज्जाजनक है और बता रहा है कि ये राज्यकर्ता राज्य करने योग्य है ही नहीं और एक ऐसे प्रखर धर्मनिष्ठकी आवश्यता है, जो दिखावा नहीं वरन कर्म करें !”- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

स्रोत : सुदर्शन न्यूज



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


सूचना: समाचार / आलेखमें उद्धृत स्रोत यूआरऍल केवल समाचार / लेख प्रकाशित होनेकी तारीखपर वैध हो सकता है। उनमेंसे ज्यादातर एक दिनसे कुछ महीने पश्चात अमान्य हो सकते हैं जब कोई URL काम करनेमें विफल रहता है, तो आप स्रोत वेबसाइटके शीर्ष स्तरपर जा सकते हैं और समाचार / लेखकी खोज कर सकते हैं।

अस्वीकरण: प्रकाशित समाचार / लेख विभिन्न स्रोतोंसे एकत्र किए जाते हैं और समाचार / आलेखकी जिम्मेदारी स्रोतपर ही निर्भर होते हैं। वैदिक उपासना पीठ या इसकी वेबसाइट किसी भी तरहसे जुड़ी नहीं है और न ही यहां प्रस्तुत समाचार / लेख सामग्रीके लिए जिम्मेदार है। इस लेखमें व्यक्त राय लेखक लेखकोंकी राय है लेखकद्वारा दी गई सूचना, तथ्यों या राय, वैदिक उपासना पीठके विचारोंको प्रतिबिंबित नहीं करती है, इसके लिए वैदिक उपासना पीठ जिम्मेदार या उत्तरदायी नहीं है। लेखक इस लेखमें किसी भी जानकारीकी सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता और वैधताके लिए उत्तरदायी है।
© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution