२१ दिनकी ‘बन्दी’के समयका सदुपयोग कैसे करें ? (भाग-१)


वर्तमान समयमें २१ दिनकी सम्पूर्ण भारतमें बन्दी है; किन्तु समाज इस समयका सदुपयोग कैसे करे ?, यह दिशा देनेवाली कोई भी बात शासनने नहीं बताई है, परिणामस्वरूप सामान्य लोग अधिकतर समय अन्तर्जालपर (इण्टरनेटपर) या तो कुछ भी अनावश्यक देखकर समय व्यर्थ कर रहे हैं या कुछ अनावश्यक लिखकर अपना व दूसरोंका समय व्यर्थ कर रहे हैं । एक बार जो समय निकल जाता है, वह पुनः नहीं आता है, यह संस्कार आजके समाजपर हम अंकित ही नहीं कर पाए हैं ।
 वर्तमान समयमें अधिकतर लोगोंके पास अति व्यस्त दिनचर्या होनेके कारण वे अपने घरको समय नहीं दे पाते हैं । मैंने पाया है कि अधिकांश लोगोंके घर मात्र बाहरसे व्यवस्थित होते हैं, कपाटिका खोलते ही उसके अव्यवस्थित होनेका प्रमाण मिल जाता है; इसलिए अपने कक्षमें एक कागद और लेखनी लेकर आपको क्या-क्या स्वच्छ व व्यवस्थित करना है ?, इसकी सूची बनाएं एवं सब व्यवस्थित करने हेतु दिनचर्यामें समय दें । यद्यपि नवरात्रका काल चल रहा है तो यह सब शारीरिक सेवाके समय मां दुर्गाका नामजप करें ! यदि ऐसा करते समय मनमें विचार आनेके कारण वह बाधित होता है तो नामजप, बोलकर, उपांशु अर्थात बुदाबुदाकर या ऊंचे स्वरमें अर्थात वैखरी वाणीमें करें ! इन २१ दिनोंमें अपने घरको सभी लोग मिलजुलकर व्यवस्थित कर लें !अपने घरको अच्छेसे व्यवस्थित करके देखें, वस्तुत: ऐसा करनेसे घरके स्पंदनमें सकारात्मक परिवर्तन आते हैं ।- (पू.) तनुजा ठाकुर, संसथापिका, वैदिक उपासना पीठ


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution