‘मौलवियों’द्वारा धन व भूमिका ‘लालच’ तथा कारागृह भिजवानेकी धमकीपर मुसलमान बने २६ लोगोंने हिन्दू धर्ममें की ‘वापसी’ 


२३ नवम्बर, २०२१
          उत्तर प्रदेश मुजफ्फरनगर जनपदमें ६ परिवारोंके २६ लोगोंने हिन्दू धर्ममें घर ‘वापसी’ की है । बघरा ‘ब्लॉक’के योग साधना आचार्य यशवीर महाराज आश्रमकी देखरेखमें शुद्धीकरणकी प्रक्रिया पूर्ण की गई । समाचारके अनुसार, प्रदेशमें समाजवादी शासनके समय मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, बागपत एवं रामपुर समेत अनेक जनपदोंमें घूम-घूमकर निर्धन वर्गके हिन्दू परिवारोंपर दबाव बनाया गया था एवं उन्हें बलपूर्वक इस्लाम स्वीकारनेको बाध्य किया गया था । लोगोंने जब इसका विरोध किया था तो उन्हें भयभीत एवं धमकाया गया था तथा मुसलमान न बननेके स्वरूपमें कारागृहमें डालनेकी धमकी दी गई थी । अब हवन व यज्ञकी विधि कराने व साधु-सन्तोंद्वारा गायत्री मन्त्रके उच्चारणकर उनको पुनः हिन्दू धर्ममें लिया गया है । उत्तर प्रदेशमें योगी आदित्यनाथके नेतृत्व व ‘भाजपा’का शासन आनेके पश्चात अनेक लोगोंने हिन्दू धर्ममें ‘वापसी’ की है । शुद्धीकरणकी प्रक्रिया पूर्ण होनेके पश्चात सभी व्यक्तियोंके कलाईपर कलावा बांधा गया तथा उन्हें विधिवत यज्ञोपवीत भी धारण कराया गया । यह सभी परिवार सहारनपुर जनपदके निवासी हैं । वहीं नजमासे सोनिया बनी महिलाने बताया कि उन्हें हिन्दू धर्ममें ‘वापस’ आनेके पश्चात अत्यधिक अच्छा लग रहा है । लगभग २५ वर्ष पूर्व उन्होंने इस्लाम पन्थको स्वीकारा था । आरिफसे सिद्धार्थ बने युवकने भी हिन्दू धर्ममें ‘वापसी’पर प्रसन्नता व्यक्त की ।
      सम्पूर्ण विश्वमें इस्लाम पन्थका प्रचार लोगोंको धनका ‘लालच’ व मृत्युका भय दिखाकर ही स्वीकार कराया गया है; परन्तु अब विश्वको यह ज्ञात हो चुका है कि ऐसे आसुरी पन्थमें मन कदापि शान्त नहीं रह सकता; अतः सभी अपने मूल धर्मकी ओर लौट रहे हैं । आनेवाले कालमें ऐसे अनेकों समाचार हमें नित्य सुनाई देंगे ! – सम्पादक, वैदिक उपाासना पीठ
 
 
स्रोत : ऑप इंडिया


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


सूचना: समाचार / आलेखमें उद्धृत स्रोत यूआरऍल केवल समाचार / लेख प्रकाशित होनेकी तारीखपर वैध हो सकता है। उनमेंसे ज्यादातर एक दिनसे कुछ महीने पश्चात अमान्य हो सकते हैं जब कोई URL काम करनेमें विफल रहता है, तो आप स्रोत वेबसाइटके शीर्ष स्तरपर जा सकते हैं और समाचार / लेखकी खोज कर सकते हैं।

अस्वीकरण: प्रकाशित समाचार / लेख विभिन्न स्रोतोंसे एकत्र किए जाते हैं और समाचार / आलेखकी जिम्मेदारी स्रोतपर ही निर्भर होते हैं। वैदिक उपासना पीठ या इसकी वेबसाइट किसी भी तरहसे जुड़ी नहीं है और न ही यहां प्रस्तुत समाचार / लेख सामग्रीके लिए जिम्मेदार है। इस लेखमें व्यक्त राय लेखक लेखकोंकी राय है लेखकद्वारा दी गई सूचना, तथ्यों या राय, वैदिक उपासना पीठके विचारोंको प्रतिबिंबित नहीं करती है, इसके लिए वैदिक उपासना पीठ जिम्मेदार या उत्तरदायी नहीं है। लेखक इस लेखमें किसी भी जानकारीकी सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता और वैधताके लिए उत्तरदायी है।

विडियो

© 2021. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution