पुत्रको चिकित्सक बनानेके लिए भूमि विक्रयकी, आतंकियोंने पत्‍नीका गला काट स‍बकुछ लूटा !


जुलाई ९, २०१८

पुत्रका चिकित्सीय महाविद्यालयमें प्रवेश दिलानेके लिए जम्‍मू कश्‍मीरके एक कुटुम्बने अपनी भूमिका एक भाग विक्रय किया था । यह दम्पति अपने पुत्रका प्रवेश चिकित्सीय महाविद्यालयमें करा पाता, इससे पूर्व आतंकियोंको घरमें रुपयोंकी भनक लग गई ! रविवार रात्रि शस्त्रों सहित आतंकियोंने इस दम्पतिके घरमें आक्रमण कर दिया । घरकी स्वामिनीने पुत्रकी शिक्षाका कहा तो आतंकियोंका क्रोध भडक गया और क्रोधित आतंकियोंने चाकूसे इस महिलाका गला काट दिया, जिसके पश्चात रक्तसे सनी महिला भूमिपर पडी तडपती रही और आतंकी घरमें लूटपाट करते रहे । आतंकियोंके घरसे जानेके पश्चात इस घरके स्वामीने निकटवर्तीसे सहायता मांगी और किसी तरह इस महिलाको चिकित्सालयतक ले जाया गया, जहां चिकित्सकोंने महिलाको मृत घोषित कर दिया !

यह घटना जम्‍मू-कश्‍मीरके बान्दीपुराके शाहगुंद गांवकी है । अब्‍दुल माजिद अपनी पत्‍नी शकीला बेगम और चार पुत्रोंके साथ इसी गांवमें रहते थे । अब्‍दुल माजिदके पुत्रने १२वीं की परीक्षा पासकी थी । अब्‍दुल माजिद चाहते थे कि उनका पुत्र कश्‍मीरमें फैले आतंकवादसे दूर जाकर अपना भविष्‍य बनाए । अपने पुत्रका भविष्‍य बनानेके लिए उन्‍होंने कुछ दिवस पूर्व अपनी भूमिका एक भाग विक्रय किया था । वह अपने पुत्रका प्रवेश जम्‍मू-कश्‍मीरसे बाहर चिकित्सीय महाविद्यालयमें कराना चाहते थे और आतंकियोंको यही बात बुरी लग गई, जिसके चलते रविवार रात्रि आतंकियोंने अब्‍दुल माजिदके घरमें धावा बोल दिया ! दो आतंकी घरके बाहर रुके, जबकि एक आतंकी घरके भीतर चला गया । घरके भीतर घुसे आतंकीने शस्त्रोंके बलपर कुटुम्बके सभी सदस्‍योंको बन्धक बना लिया और लूटपाट करने लगे !
आतंकी घरमें समस्त धन और स्वर्णके आभूषण अपने साथ ले जाना चाहते थे, जिससे अब्‍दुल माजिद अपने पुत्रको जम्‍मू-कश्‍मीरसे बाहर न भेज सके । अपने पुत्रके अच्छे भविष्‍यके लिए देखे स्वप्नको नष्ट होता देख शकीला रो पडी । उसने अपने पुत्रकी शिक्षाका वचन देकर आतंकियोंको रोकनेका प्रयास किया । इसी बातने आतंकियोंके भडका दिया और आतंकीने चाकूसे शकीलाकी गर्दन काटदी । रक्तसे सनी शकीलाको वही पडा छोड आतंकी फिर लूटपाटमें लग गए । घरमें लूटपाट करनेके पश्चात आतंकी घरसे भाग गए, जिसके पश्चात अब्‍दुल माजिद अपनी पत्‍नी शकीलाको लेकर श्रीनगरके एक चिकित्सालय पहुंचे, जहां चिकित्‍सकोंने उसे मृत घोषितकर दिया !

सूत्रोंके अनुसार, पुलिसने घरसे कुछ दूरीपर लूटे गए रुपयोंका एक भाग पडा हुआ पाया, इससे यह स्पष्ट हो गया कि इस घटनाको रुपये प्राप्त करनेके उद्देश्य से नहीं, वरन अब्‍दुल माजिदके पुत्रकी शिक्षा रोकनेके उद्देश्यसे किया गया था । प्रथम दृष्‍टया इस घटनाके लिए ‘लश्‍कर-ए-तैयबा’को उत्तरदायी माना जा रहा है । वहीं बान्दीपुरा पुलिसने विशेष दलका गठनकर प्रकरणकी जांच आरम्भ कर दी है ।

स्रोत : जी न्यूज



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


सूचना: समाचार / आलेखमें उद्धृत स्रोत यूआरऍल केवल समाचार / लेख प्रकाशित होनेकी तारीखपर वैध हो सकता है। उनमेंसे ज्यादातर एक दिनसे कुछ महीने पश्चात अमान्य हो सकते हैं जब कोई URL काम करनेमें विफल रहता है, तो आप स्रोत वेबसाइटके शीर्ष स्तरपर जा सकते हैं और समाचार / लेखकी खोज कर सकते हैं।

अस्वीकरण: प्रकाशित समाचार / लेख विभिन्न स्रोतोंसे एकत्र किए जाते हैं और समाचार / आलेखकी जिम्मेदारी स्रोतपर ही निर्भर होते हैं। वैदिक उपासना पीठ या इसकी वेबसाइट किसी भी तरहसे जुड़ी नहीं है और न ही यहां प्रस्तुत समाचार / लेख सामग्रीके लिए जिम्मेदार है। इस लेखमें व्यक्त राय लेखक लेखकोंकी राय है लेखकद्वारा दी गई सूचना, तथ्यों या राय, वैदिक उपासना पीठके विचारोंको प्रतिबिंबित नहीं करती है, इसके लिए वैदिक उपासना पीठ जिम्मेदार या उत्तरदायी नहीं है। लेखक इस लेखमें किसी भी जानकारीकी सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता और वैधताके लिए उत्तरदायी है।
© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution