अभिनय करनेवाले पात्रोंके चित्रको देव रूपमें न पूजें !


धारावाहिकोंमें या चलचित्रोंमें (फिल्मोंमें) देवी-देवताके पात्रका अभिनय करनेवाले पात्रोंके चित्रको देव रूपमें न पूजें !

हिन्दुओ ! दूरदर्शनके धारावाहिकोंमें या चलचित्रोंमें (फिल्मोंमें) देवी-देवताके पात्रका अभिनय करनेवाले पात्रोंके चित्रको देव रूपमें न पूजें ! ध्यान रहे, वे अभिनेता/अभिनेत्री हैं, आज देवी-देवताका अभिनय करेंगे, कल किसीने अधिक पैसे दिए तो वे किसी दुर्जन पात्रका अभिनय करेंगे !
आपको तो ज्ञात ही होगा कि अनके अभिनेता व्यसन कर अभिनय करते हैं, कुछ तो चरित्रहीन और राष्ट्रद्रोही भी होते हैं; अतः देवताका अभिनय करनेवाले पूज्य नहीं होते !
पूज्य वो होते हैं जिनकी कथनी और करनी, धर्म और शास्त्र सम्मत हो और उनका जीवन आदर्श हो; अतः विवेकका प्रयोग करें ! इस बार महाकुम्भमें सीता-राम, शिव-पार्वती इत्यादि देवताओंके चित्रोंमें मैंने देखा कि छायाचित्र विक्रेता (दूकानदारोंने) कुछ अभिनेताओंका देव और देवी रूपमें अभिनीत छायाचित्र, धार्मिक धारावाहिकोंसे निकालकर, लोगोंको मूर्ख बनाकर उसे विक्रय रहे थे ! हिन्दुओ, जागो, अपने विवेकका उपयोग कर धर्मपालन करो !



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution