अग्निहोत्रसे सम्बन्धित शंका समाधान (भाग-६)


प्रश्न : क्या कार्यालयसे आनेके पश्चात बिना स्नान किए अग्निहोत्र किया जा सकता है ?
उत्तर : यदि आप सम्पूर्ण दिवस शौच नहीं जाते हैं एवं आपका कार्य मात्र लेखन इत्यादिका हो तब तो आप बिना स्नान किए हाथ-पांव धोकर अग्निहोत्र कर सकते हैं । किन्तु यदि आप किसी चर्म (चमडेका), मांसाहार या चिकित्सासे सम्बन्धित किसी प्रतिष्ठानमें कार्यरत रहते हैं तो आपको निश्चित ही शुद्ध होकर यह अनुष्ठान करना चाहिए । अग्निहोत्रमें आप जितना शुचिताका ध्यान रखेंगे, उससे उतना ही अधिक आध्यात्मिक लाभ मिलेगा । वैसे ही यदि आप श्मशानघाट, किसी चिकित्सालयसे या किसीके घर जन्मपातक या मृत्युसूतक लगा हो और आप उनके घरसे आते हैं तो भी आपको अवश्य ही स्नान करना चाहिए । अग्निहोत्र एक वैदिक यज्ञ है; इसलिए इसे शुचितासे करनेसे देवकृपा प्राप्त होती है ।



Leave a Reply

Your email address will not be published.

सम्बन्धित लेख


© 2021. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution