विवादोंके मध्य ‘आर्ट ऑफ लिविंग’की कार्यशालाके लिए गई सीबीआई !


नवम्बर १०, २०१८

केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) गत कुछ दिवसोंसे अपनी अन्तर्कलहके कारण समाचारोंमें है । जांच विभागके दो उच्च अधिकारियों एक-दूसरेपर दोषारोपण कर रहे हैं ! इसी मध्य ‘आर्ट ऑफ लिविंग’के संस्थापक श्रीश्री रविशंकर आजसे विभागके कर्मचारियोंको प्रोत्साहित करेंगे और उनमें सकारात्मकता लानेका प्रयास करेंगे । इसके लिए सीबीआई मुख्यालयमें तीन दिवसोंकी कार्यशालाका आयोजन किया जा रहा है । जिसमें १५० अधिकारी भाग लेंगे ।


कार्यशालामें (वर्कशॉपमें) भाग लेने वाले अधिकारियोंमें इंस्पेक्टरसे लेकर अन्तरिम निदेशक तक सम्मिलित होंगे । सीबीआईके प्रवक्ताने कहा, “इससे सकारात्मकतामें सुधार होगा, तालमेल बढेगा और विभागके भीतर एक स्वस्थ वातावरण पैदा होगा ।” जब उनसे पूछा गया कि क्या इस कार्यशालाका आयोजन करनेसे कोई ठोस पग उठाया जाएगा तो उन्होंने इसपर टिप्पणी करनेसे मना कर दिया ।

गत कुछ समयसे जांच विभाग निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थानाके मध्य उपजे विवादके कारण चर्चामें है । दोनोंने एक दूसरेपर भ्रष्टाचारके आरोप लगाए हैं ! उच्चतम न्यायालयने इस प्रकरणकी जांच करनेके लिए सीवीसीको दो सप्ताहका समय दिया है । तीन दिवसोंकी यह कार्यशाला सोमवार, १२ नवम्बरको समाप्त होगी ।

 

“निस्संदेह तीन-चार दिवसोंमें बालपनसे जो संस्कार पडे है, उसे नष्ट नहीं किया जा सकता है, परन्तु एक बात स्पष्ट है कि भ्रष्टाचार, भूखमरी, दरिद्रता आदि सभी रोगोंका एक ही उपाय विधान व नियम न होकर धर्मशिक्षण है, जो आने वाले हिन्दू राष्ट्रमें सभीको अनिवार्य होगा !”- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

 

स्रोत : अमर उजाला



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution