हमारा अज्ञान ही अन्धकारका कारण


ब्रह्माण्डकी सारी शक्तियां पहलेसे हमारी हैं, वो हम ही हैं, जो अपने नेत्रोंपर हाथ रख लेते हैं, तत्पश्चात रोते हैं कि कितना अन्धकार है ! – स्वामी विवेकानन्द



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution