भारतकी पराकोटिकी अधोगतिके लिए जनता ही उत्तरदायी !   


जिसे स्वयंका परिवार भी ठीक प्रकारसे चलाना नहीं आता, ऐसे राष्ट्र चलानेमें अक्षम प्रत्याशियोंको (उम्मीद्वारोंको) भारतकी जनता चुनकर लाती है ! इससे भारत रसातलको गया है ! – परात्पर गुरु डॉ. जयंत आठवले, संस्थापक, सनातन संस्था



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution