उत्तिष्ठ कौन्तेय !


भारतद्वेषटा चीनने हिन्दू तीर्थयात्रियोंको कैलाश मानसरोवरके मार्गपर रोका
चीनने भारतके लगभग ५० तीर्थयात्रियोंको आगे बढनेसे रोक दिया, जो सिक्किममें ‘नाथुला दर्रे’ होते हुए कैलाश मानसरोवरकी यात्रा करनेवाले थे । क्या कैलाश मानसरोवर जैसे हिन्दुओंके पवित्रतम तीर्थक्षेत्र भारतका अंग नहीं होना चाहिए था ? आगामी हिन्दू राष्ट्रमें हिन्दुओंके सभी सीमापारके पवित्र तीर्थस्थल भारतके अविभाज्य अंग होंगे, जिससे किसी भी हिन्दूको किसी परराष्ट्रसे वहां जाने हेतु अनुमति लेनेकी आवश्यकता नहीं होगी ! (२४.६.२०१७)



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution