कर्नाटकमें सडकका नाम टीपू सुल्तानके नामपर रखनेका प्रस्ताव, विरोधमें सडकपर भाजपा


दिसम्बर १०, २०१८

कर्नाटकमें मुख्य विपक्षी दल भाजपाने सोमवार, १० दिसम्बरको दावा किया कि राज्यके एक मन्त्रीने नगरकी एक सडकका नाम टीपू सुल्तानके नामपर रखनेको कहा है । भाजपा और अन्य दक्षिणपन्थी संगठनोंने इसके विरुद्घ नगरपालिकाके समक्ष सोमवारको विरोध प्रदर्शन किया ।

प्रदर्शनके मध्य भाजपा कार्यकर्ताओंने दावा किया कि कानून एवं पंचायत राज मन्त्री कृष्णा बीरेगौडाने बृहद बेंगलुरु महानगर पालिका आयुक्तको पत्र लिख कर इसकी मांग की है । प्रदर्शनकारियोंके अनुसार बेल्लाहल्लीका नाम टीपू सुल्तानके नामपर रखनेकी तैयारी है । बता दें कि भाजपा टीपूको ‘धार्मिक कट्टरपन्थी’ सुल्तान मानती है और इसे लेकर वह निरन्तर विरोध करती रही है । यद्यपि, महापौर गंगाम्बिक मल्लिकार्जुनने हाल हीमें स्पष्ट किया था कि मन्त्रीकी ओरसे ऐसा कोई पत्र प्राप्त नहीं हुआ है ।

मल्लिकार्जुनने कहा कि यदि ऐसा कोई प्रस्ताव आता भी है तो स्वीकृतिके लिए सबसे पहले उसे निगम परिषदमें रखा जाएगा । भगवा ध्वज लहराते हुए और हाथोंमें फलक तथा तख्तियां लिए हुए भाजपा समर्थित हिन्दू जागरण बेदिका और अन्य संगठनोंके कार्यकर्ताओंने बृहद बेंगलुरु महानगर पालिकाके (बीबीएमपी) कार्यालयोंके समक्ष प्रदर्शन किया ।

 

“इस राष्ट्रकी विडम्बना है कि संस्कार व राष्ट्रीयताको खो चूके राजनीतिक दल तुष्टिकरण और मतोंकी राजनीतिमें राष्ट्रद्रोहसे भी पीछे नहीं हटते है ! यह सभी जानते हैं कि टीपू एक कट्टर हत्यारा था, जिसने अनेकों हिन्दुओंका धर्म परिवर्तन किया और मन्दिरोंको तोडा और आज हिन्दुओंके देशमें ही उसके नामपर कार्य हो रहे है !”- सम्पादक, वैदिक उपसना पीठ

स्रोत : नभाटा



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


सूचना: समाचार / आलेखमें उद्धृत स्रोत यूआरऍल केवल समाचार / लेख प्रकाशित होनेकी तारीखपर वैध हो सकता है। उनमेंसे ज्यादातर एक दिनसे कुछ महीने पश्चात अमान्य हो सकते हैं जब कोई URL काम करनेमें विफल रहता है, तो आप स्रोत वेबसाइटके शीर्ष स्तरपर जा सकते हैं और समाचार / लेखकी खोज कर सकते हैं।

अस्वीकरण: प्रकाशित समाचार / लेख विभिन्न स्रोतोंसे एकत्र किए जाते हैं और समाचार / आलेखकी जिम्मेदारी स्रोतपर ही निर्भर होते हैं। वैदिक उपासना पीठ या इसकी वेबसाइट किसी भी तरहसे जुड़ी नहीं है और न ही यहां प्रस्तुत समाचार / लेख सामग्रीके लिए जिम्मेदार है। इस लेखमें व्यक्त राय लेखक लेखकोंकी राय है लेखकद्वारा दी गई सूचना, तथ्यों या राय, वैदिक उपासना पीठके विचारोंको प्रतिबिंबित नहीं करती है, इसके लिए वैदिक उपासना पीठ जिम्मेदार या उत्तरदायी नहीं है। लेखक इस लेखमें किसी भी जानकारीकी सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता और वैधताके लिए उत्तरदायी है।
© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution