जम्मूके सूरनकोटमें पूर्वाभ्यासमें तिरंगेके स्थथानपर फहराया गया नीला ध्वज !!


जनवरी २६, २०१९

सूरनकोट उपमण्डल (तहसील) मुख्यालयमें गणतन्त्र दिवसकके पूर्वाभ्यासके समय राष्ट्र ध्वज तिरंगेके स्थानपर नीले रंगका ध्वज फहरा दिया गया ! एसडीएम सूरनकोट और तहसीलदार सूरनकोटकी उपस्थितिमें सलामी देनेके साथ ही पूर्वाभ्यास किया गया । इस घटनाका शुक्रवार, २५ जनवरीको वीडियो प्रसारित होनेके पश्चात लोगोंमें भारी रोष व्याप्त हो गया ।

जनपदके अन्य भागोंकी ही भांति सूरनकोट उपमण्डल (तहसील) मुख्यालय स्थित लडकोंके उच्च माध्यमिक विद्यालयमें गणतन्त्र दिवस समारोहका पूर्वाभ्यास आयोजित किया गया था । इसमें एसडीएम सूरनकोट मोहम्मद सलीम कुरैशी और तहसीलदार सूरनकोट मुख्य अतिथि थे । उन्होंने वहां जब ध्वज फहराया तो वह तिरंगा न होकर नीला झंडा था; परन्तु इसपर किसी अधिकारीने ध्यान नहीं दिया ।

शुक्रवारको इस प्रकरणमें पुंछ ‘यूथ क्लब’ने मण्डल विकास आयुक्त राहुल यादवसे भेंटकर एसडीएम सूरनकोट और तहसीलदारके विरुद्घ कार्यवाहीकी मांग करते हुए ज्ञापन सौंपा । इसपर डीसीने जांचके निर्देश दे दिए ।

 

“आए दिन इस देशमें राष्ट्रध्वजकी अवमानना होती है, तो प्रतीत होता है कि हममे राष्ट्राभिमानका अंशमात्र भी नहीं है और यह सब इसी कारणसे होता है कि बालपनसे हमें राष्ट्रभक्तिके संस्कार नहीं रोपे जाते, जिससे जब भी ऐसी अवमानना होती है, तो विचित्र नहीं लगता; परन्तु तिरंगेके स्थानपर नीला ध्वज यह तो असहनीय है । केन्द्र इसपर त्वरित संज्ञान लेकर कडीसे कडी कार्यवाही करे और उदाहरण प्रस्तुत करे कि एक इस राष्ट्रमें एक ही ध्वज है ।”- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

 

स्रोत : अमर उजाला



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


सूचना: समाचार / आलेखमें उद्धृत स्रोत यूआरऍल केवल समाचार / लेख प्रकाशित होनेकी तारीखपर वैध हो सकता है। उनमेंसे ज्यादातर एक दिनसे कुछ महीने पश्चात अमान्य हो सकते हैं जब कोई URL काम करनेमें विफल रहता है, तो आप स्रोत वेबसाइटके शीर्ष स्तरपर जा सकते हैं और समाचार / लेखकी खोज कर सकते हैं।

अस्वीकरण: प्रकाशित समाचार / लेख विभिन्न स्रोतोंसे एकत्र किए जाते हैं और समाचार / आलेखकी जिम्मेदारी स्रोतपर ही निर्भर होते हैं। वैदिक उपासना पीठ या इसकी वेबसाइट किसी भी तरहसे जुड़ी नहीं है और न ही यहां प्रस्तुत समाचार / लेख सामग्रीके लिए जिम्मेदार है। इस लेखमें व्यक्त राय लेखक लेखकोंकी राय है लेखकद्वारा दी गई सूचना, तथ्यों या राय, वैदिक उपासना पीठके विचारोंको प्रतिबिंबित नहीं करती है, इसके लिए वैदिक उपासना पीठ जिम्मेदार या उत्तरदायी नहीं है। लेखक इस लेखमें किसी भी जानकारीकी सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता और वैधताके लिए उत्तरदायी है।

विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution