कोरोना सम्बन्धी संक्रमणके विषयमें कुछ जिज्ञासुओं, कार्यकर्ताओं व साधकोंकी अनुभुतियां


कोरोना संक्रमणके कालमें उपासनासे जुडे हुए कुछ सदस्योंको कोरोना संक्रमण हो गया । ऐसेमें कुछ सदस्य तो अच्छेसे साधना पहलेसे ही करते थे एवं कुछ नूतन जुडे हुए थे, उन्हें कोरोना संक्रमण होनेपर, कुछ आध्यात्मिक उपचार बताए गए, जिससे उन्हें अप्रत्याशित लाभ हुआ, यह लेखमाला उसी सम्बन्धमें है –

जनपद गाजियाबादके श्री. मृत्युन्जय सिन्हाकी अनुभूति –

सर्वप्रथम २० नवम्बर २०२० को मेरी पुत्री शुभांगीमें कोरोना संक्रमणके लक्षण दिखे एवं वह केवल एक ही दिवस रोगग्रस्त रही । उसके पश्चात मैं स्वयं ४ दिवस उससे अधिक पीडित रहा; किन्तु प्रभाव लगभग १७ से २० दिवसतक रहा; किन्तु मेरे कार्य करनेकी शक्ति व ऊर्जामें न्यूनता नहीं थी, जिससे घरकी आयमें कहीं न्यूनता नहीं हुई । उसके पश्चात अभी मार्च २०२१ में पुनः शुभांगीको कोरोनाके कारण फेफडोंमें सङ्क्रमण (इन्फेक्शन) हुआवऔर वह लगभग ८ दिवस निजी चिकित्सालयमें रही । बचनेकी सम्भावना ९९% नहीं थी । चिकित्सकने कहा कि फेफडोंसे पीब (पस) बाहर आ रहा है । ‘हीमोग्लोबिन’के अभावसे चिकित्सा भी सम्भव नहीं लग रही थी । पारिवारिक कलह तो चरमपर था; तथापि नामजप गुरुकृपासे नहीं छूटा, केवल जितने दिवस चिकित्सालयमें थे, उतने दिवस आरती नहीं की । इसी मध्य वंदना ताईका दूरभाष आया, जिन्हें वैदिक उपासना पीठकी ओरसे कोरोना पीडित साधकोंकी स्थिति जानकर, उन्हें पूज्या मांद्वारा बताए गए योग्य आध्यात्मिक उपचार बतानेकी सेवा दी गई है । तभी मैं समझ गया कि अब ९९% जो नकारात्मकता थी, वह अब अवश्य ९९% सकारात्मकता हो जाएगी और हुआ भी ऐसा ही । ‘हीमोग्लोबिन’ जो ४ रह गया था, अकस्मात एक दिनमें ८ हो गया और औषधिके सभी मापदण्ड प्रभावी हो गए । फेफडेका संक्रमण, खांसी जो कलतक अत्यधिक थी, एकाएक सामान्य हो गई । जिस चिकित्सकने ६ से ७ दिन और रुकनेको बोला था, उसने भी निःसंकोच जानेको कह दिया । उसके पश्चात पत्नीको कोरोनाका संक्रमण हो गया; किन्तु वह अब स्वस्थ है ।
सबसे आश्चर्यकी बात यह है कि मेरे ५ वर्षीय पुत्र शुभमको आजतक एक छींक भी नहीं आई और मेरी ऊर्जामें घरका कार्य, कार्यालयका कार्य, पुत्र शुभमका कार्य करनेके लिए, कहीं भी अपूर्णता नहीं रही; अन्यथा बहुत समस्या हो जाती ।
इस विशेष अनुकम्पा हेतु मैं पूज्या तनुजा मांके चरणोंमें कोटिशः वन्दन करता हूं ।



Leave a Reply

Your email address will not be published.

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2021. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution