देव स्तुति


कावेरिकानर्मदयो: पवित्रे समागमे सज्जनतारणाय ।

सदैव मान्धातृपुरे वसन्तमोंकारमीशं शिवमेकमीडे् ॥

अर्थ : जो भगवान शंकर सज्जनोंको इस संसार सागरसे पार उतारनेके लिए कावेरी और नर्मदाके पवित्र संगममें स्थित मान्धाता नगरीमें सदा निवास करते हैं, उन्हीं अद्वितीय ‘ओंकारेश्वर’ नामसे प्रसिद्ध श्रीशिवकी मैं स्तुति करता हूं ।



Leave a Reply

Your email address will not be published.

सम्बन्धित लेख


© 2021. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution