धर्मधारा


पञ्च ज्ञानेन्द्रियोंमेंसे किसी एक इन्द्रियको नियन्त्रित करनेसे शेष इन्द्रियोंको नियन्त्रित करनेकी कला आ जाती है; इसलिए किसी भी इन्द्रियके निग्रहकी प्रकिया सदैव फलदायी होती है।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution