राम मंदिरपर इकबाल अंसारीका बडा वक्तव्य, मंदिरके लिए विधान बने, मुझे समस्या नहीं !


नवम्बर २०, २०१८

राम मंदिरके लिए चल रहे प्रयासोंके मध्य बाबरी ढांचा पक्षके पैरोकार इकबाल अंसारीका बडा वक्तव्य आया है । उन्होंने कहा कि यदि भाजपा राम मंदिर निर्माणके लिए विधान बनाना चाहती है तो बनाए, हमें कोई विरोध नहीं है । हम विधानका आदर करने वाले लोग हैं, परन्तु देशकी शान्ति सुनिश्चित रहनी चाहिए । शिवसेना एवं विहिपके प्रस्तावित कार्यक्रमोंके विरोधमें आयोजित सभामें आए इकबालने कहा, “कोई भी मुसलमान कभी झगडा नहीं चाहता, हम देशकी हानि भी नहीं चाहते । अयोध्यामें भीड जुटानेके लिए शिवसेना और विहिपपर प्रश्न भी खडा किया ।

इकबालने शिवसेना एवं विहिपके कार्यक्रमोंको ही ध्यानमें रखकर गत दिनों, अपनी और अयोध्याके मुस्लिमोंकी सुरक्षाकी ओर ध्यान आकृष्ट कराते हुए पलायनकी चेतावनी दी थी । कहा था कि जिस प्रकार २४, २५ नवम्बरको अयोध्यामें मंदिर समर्थकोंको जुटानेकी तैयारी हो रही है, कुछ ऐसा ही ६ दिसम्बर,१९९२ से पूर्वका था और उस अवसरपर जुटी भीडने न केवल बाबरी मस्जिद तोड दी थी बल्कि अयोध्याकी अन्य अनेक मस्जिदोंको तोडनेके साथ बडी संख्यामें मुस्लिमोंके घरोंमें आग लगा दी थी । शासनने इकबालकी चेतावनीको ध्यानमें रखकर रविवारको उनकी सुरक्षा व्यवस्था बढाकर एक दारोगा और तीन सिपाही तैनात किए हैं ।

यह प्रथम अवसर नहीं है, जब इकबालने शासन-प्रशासन अथवा प्रदेशकी योगी सरकार एवं केंद्रकी मोदी सरकारकी प्रशंसा की हो, वे यह दोहराते रहे हैं कि आशंकाके विपरीत योगी-मोदीके शासनमें मुस्लिम सुरक्षित हैं । इकबालके पिता मरहूम हाशिम अंसारीको बाबरी ढांचाके पैरवीसे जुडे अभियानका पितामह माना जाता रहा है । दो वर्ष पूर्व ९४ वर्षकी अवस्थामें मृत होने वाले हाशिम अपने जीवनके उत्तरार्धमें रामललाकी पैरवी करते रहे । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीके प्रशंसक हाशिमकी आकांक्षा थी कि रामललाको उनकी गरिमाके अनुरूप ‘मेक शिफ्ट स्ट्रक्चर’से निकाल कर भव्य मंदिरमें स्थापित किया जाए । हाशिमने हनुमानगढीसे जुडे शीर्ष महंत ज्ञानदासके साथ आपसी सहमतिसे मंदिर-मस्जिद विवादके समाधानका गंभीर प्रयास भी किया था ।  

 

“भाजपा सरकार अब त्वरित विधान बनाकर, मन्दिर निर्माण करे, यही समस्त हिन्दुओंकी इच्छा है”- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

 

स्रोत : जागरण



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution