गुरुकुल पद्धति शिक्षण हेतू हिन्दू राष्ट्र आवश्यक


इस देशमें यदि शिक्षण व्यवस्थामें मात्र भिन्न विषयोंके प्रायोगिक पक्षको भी सिखाया जाता तो आज इतनी बेरोजगारी नहीं होती ! पूर्व कालमें जब विद्यार्थी गुरुकुलसे घर जाते थे तो अपनी शैक्षणिक कालमें अर्जित ज्ञानसे वे सहजतासे अपनी जीविकोपार्जन कर पाते थे । हमें पुनः उसी पुरातन गुरुकुल पद्धतिसे इस देशमें लागू करनेकी आवश्यकता है, इस हेतु हिन्दू राष्ट्रकी स्थापना करना परिहार्य हो गया है ।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution