बांग्लादेशमें भी हिन्दू त्रस्त, मतदानसे पूर्व लगाई घरोंमें आग !!


दिसम्बर २८, २०१८

बांग्लादेशमें रविवार, ३० दिसम्बरको होने वाले मतदानसे पूर्व हिन्दू परिवारके एक घरको कथित रूपसे आग लगा दी गई !! देशमें गत दिवसोंमें धार्मिक अल्पसंख्यकको लक्ष्य बनानेसे सम्बन्धित यह तीसरा प्रकरण है । अग्निशामक दल अधिकारी मोफिदार रहमान खानने बताया कि ठाकुरगांव सदर उपमण्डलके (तहसीलके) झापरतलाई गांवमें आनंदा चंद्र बर्मनके घरमें रातके लगभग १० बजे आग लग गई ।

बर्मनने ‘बीडीन्यूज२४ डॉटकॉम’से कहा, “मैंने देखा कि मेरे घरमें आग लगी है और पेट्रोलकी गंध आ रही है । पूरा घर पांचसे सात मिनटमें जलकर स्वाहा हो गया ।” उन्होंने कहा, “हमारे हिन्दू समुदायको भयभीत करने और आगामी मतदानमें हमें वोट डालनेसे दूर रखनेके लिए किसीने हमारे घरमें आग लगानेके लिए पेट्रोल प्रयोग किया ।”

प्राप्त समाचारोंके अनुसार, मतदानसे पूर्व अब तक हिन्दुओंके तीन घरोंको आग लगाई गई है । अखनगर संघ परिषदके अध्यक्ष नुरुल इस्लामने अल्पसंख्यक समुदायके घरोंमें आग लगाने वाले अपराधियोंके विरुद्ध पुलिससे कार्यवाही करनेकी मांग की है । इस मध्य, पुलिसने कहा है कि उसने प्रकरणकी जांच आरम्भ कर दी है ।

 

“हिन्दुओंपर अत्याचार कब तक होता रहेगा ? इसके लिए वहांके शासक वर्ग ही उत्तरदायी है, जो दिखावेके लिए ही विश्वके समक्ष धर्मनिरपेक्ष बनते हैं । भारतीय शासन वहांके शासनपर बल दें व हिन्दू भाई-बहनोंकी सुरक्षा सुनिश्चित करें, ऐसी सभी हिन्दुत्वनिष्ठोंकी अपेक्षा है !”- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

 

स्रोत : नभाटा



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


सूचना: समाचार / आलेखमें उद्धृत स्रोत यूआरऍल केवल समाचार / लेख प्रकाशित होनेकी तारीखपर वैध हो सकता है। उनमेंसे ज्यादातर एक दिनसे कुछ महीने पश्चात अमान्य हो सकते हैं जब कोई URL काम करनेमें विफल रहता है, तो आप स्रोत वेबसाइटके शीर्ष स्तरपर जा सकते हैं और समाचार / लेखकी खोज कर सकते हैं।

अस्वीकरण: प्रकाशित समाचार / लेख विभिन्न स्रोतोंसे एकत्र किए जाते हैं और समाचार / आलेखकी जिम्मेदारी स्रोतपर ही निर्भर होते हैं। वैदिक उपासना पीठ या इसकी वेबसाइट किसी भी तरहसे जुड़ी नहीं है और न ही यहां प्रस्तुत समाचार / लेख सामग्रीके लिए जिम्मेदार है। इस लेखमें व्यक्त राय लेखक लेखकोंकी राय है लेखकद्वारा दी गई सूचना, तथ्यों या राय, वैदिक उपासना पीठके विचारोंको प्रतिबिंबित नहीं करती है, इसके लिए वैदिक उपासना पीठ जिम्मेदार या उत्तरदायी नहीं है। लेखक इस लेखमें किसी भी जानकारीकी सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता और वैधताके लिए उत्तरदायी है।
© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution