उत्तरप्रदेशमें रेलयानमें तीन तलाक देकर भागा धर्मान्ध युवक, १० माह पूर्व किया था प्रेम विवाह !!


जनवरी ७, २०१९

मुम्बईसे बलिया आते समय एक युवकने रेलयानमें ही पत्नीको तलाक दे दिया ! इसके पश्चात बलिया स्टेशनपर रेलयानसे उतरकर चला गया । उद्विग्न महिला न्यायकी याचिका लेकर थाने पहुंची और परिवाद प्रविष्ट करवाई ।

बलिया जनपदके सुखपुरा थाना क्षेत्रके बसन्तपुर निवासी हैदर शेखने बांसडीह रोड थानाके शेरिया गांवकी अमीरुनसे २५ फरवरी २०१८ को निकाह किया था । इसके पश्चात वह अपनी पत्नीको लेकर मुम्बईमें रहने चला गया । वहींपर वह जीवन यापनके लिए कोई साधन करता रहा ।

दस माह पश्चात मुम्बईसे रेलयानसे अपनी पत्नीको लेकर आ रहा था; परन्तु रविवार, ६ जनवरीको जब रेल बलियामें पहुंची तो उसने पत्नीको तीन बार तलाक कहा और उतर गया ! इससे उद्विग्न अमीरुन उसके पीछे-पीछे रेलयानसे उतर गई ।

‘स्टेशन’से निकलनेके पश्चात हैदर बहेडी तक आया; परन्तु उसके पश्चात वह ओझल हो गया । कुछ देर तक उसने वहां पतिको ढूंढा और इसके पश्चात रोती हुई सुखपुरा थाने पहुंची । वहां यह घटना थानाध्यक्षको बताई ।

सोमवार, ७ जनवरीको थानाध्यक्ष परमानन्द द्विवेदीने एक पुलिस कर्मीको उसके ससुराल बसंतपुरमें भेजा तो ज्ञात हुआ कि दोनोंने प्रेम विवाह किया था । इसमें परिवारकी स्वीकृति नहीं थी । उसी समयसे न तो लडकी अपने घर जाती है और न ही लडका । लडकेके परिवार वालोंका कहना है कि अब भी लडका घर नहीं पहुंचा है । ‘एडिशनल एसपी’ विजयपाल सिंहने बताया कि ऐसा कोई प्रकरण मेरे संज्ञानमें नहीं है । यदि ऐसी घटना हुई तो पुलिस कार्यवाही करेगी ।

 

“जहां बालपनसे मौलवियोंद्वारा दिए गए महिलाओंको केवल वासनापूर्तिका माध्यम समझनेके संस्कार हो, वहां कभी प्रेम हो सकता है क्या ? और तीन तलाकपर समस्त मुस्लिम महिलाओंको एकत्र होकर विरोध प्रकट करना चाहिए, तभी इसका समाधान सम्भव है । सहस्र वर्षोंसे पडी बेडियों बिना बलके प्रयोगके नहीं तोडी जा सकती हैं !”- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

 

स्रोत : आजतक



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


सूचना: समाचार / आलेखमें उद्धृत स्रोत यूआरऍल केवल समाचार / लेख प्रकाशित होनेकी तारीखपर वैध हो सकता है। उनमेंसे ज्यादातर एक दिनसे कुछ महीने पश्चात अमान्य हो सकते हैं जब कोई URL काम करनेमें विफल रहता है, तो आप स्रोत वेबसाइटके शीर्ष स्तरपर जा सकते हैं और समाचार / लेखकी खोज कर सकते हैं।

अस्वीकरण: प्रकाशित समाचार / लेख विभिन्न स्रोतोंसे एकत्र किए जाते हैं और समाचार / आलेखकी जिम्मेदारी स्रोतपर ही निर्भर होते हैं। वैदिक उपासना पीठ या इसकी वेबसाइट किसी भी तरहसे जुड़ी नहीं है और न ही यहां प्रस्तुत समाचार / लेख सामग्रीके लिए जिम्मेदार है। इस लेखमें व्यक्त राय लेखक लेखकोंकी राय है लेखकद्वारा दी गई सूचना, तथ्यों या राय, वैदिक उपासना पीठके विचारोंको प्रतिबिंबित नहीं करती है, इसके लिए वैदिक उपासना पीठ जिम्मेदार या उत्तरदायी नहीं है। लेखक इस लेखमें किसी भी जानकारीकी सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता और वैधताके लिए उत्तरदायी है।

विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution