१९ वर्षके इब्राहिमने की घर ‘वापसी’, अब कहलाएंगे आदित्य मिश्र, भगवा ओढकर अपनाया हिन्दू धर्म, आर्य समाज मन्दिरमें हवन


१५ दिसम्बर, २०२१
      उत्तर प्रदेशकी राजधानी लखनऊमें १९ वर्षके युवक इब्राहिमने हिन्दू धर्म स्वीकार कर लिया है । अब वे आदित्य मिश्र नामसे जाने जाएंगे । ये प्रक्रिया समूचे विधि-विधानसे लखनऊके नरही स्थित आर्य समाज मन्दिरमें सम्पन्न हुई है । मन्दिरमें आदित्यने वैदिक मन्त्रोंके मध्य हवन किया । साथ ही भगवा रंगकी पट्टिका भी पहनी ।
      ज्ञातव्य है कि आदित्यका जन्म मूल रूपसे हिन्दू परिवारमें ही हुआ था । उनकी मांका नाम अलका चतुर्वेदी है । अलकाका विवाह वर्ष २००० में कानपुरके विनोद मिश्रके साथ हुआ था । इनकी २ सन्तानें हुईं । वर्ष २००१ में एक बेटी और आदित्यका जन्म वर्ष २००३ में हुआ । जब आदित्य मात्र ९ वर्ष के थे तब वर्ष २०१२ में उनके माता-पिताका सम्बन्ध विच्छेद (तलाक) हो गया । कुछ समय पश्चात वर्ष २०१४ में अलका चतुर्वेदीने लखनऊके लियाकत खानसे विवाह (निकाह) किया । इसीके साथ उन्होंने इस्लाम भी ‘कबूल’ कर लिया । यह बातें आदित्यने अपने शपथ-पत्रमें बताई हैं ।
      इस समाचारकी पुष्टिके लिए ‘मीडिया’ने आर्य समाज मन्दिर सिविल लाइंसमें सम्पर्क किया । वहां इस घर-‘वापसी’की पुष्टि की गई ।
       जिनके मूलमें सनातन धर्म है, वे आज नहीं तो कल पुनः अपने धर्ममें अवश्य ही लौटेंगे । घर ‘वापसी’के ऐसे समाचार, अब नित्य ही दिखाई एवं सुनाई देंगे; अतः हिन्दुओ ! इसे अपनी विजय समझ प्रसन्न न हो और अपना लक्ष्य हिन्दूराष्ट्र विस्मरण न करें । अभी तो यह मात्र आरम्भ है । गन्तव्य अभी दूर है ! – सम्पादक, वैदिक उपाासना पीठ
 
 
स्रोत : ऑप इंडिया


Leave a Reply

Your email address will not be published.

सम्बन्धित लेख


सूचना: समाचार / आलेखमें उद्धृत स्रोत यूआरऍल केवल समाचार / लेख प्रकाशित होनेकी तारीखपर वैध हो सकता है। उनमेंसे ज्यादातर एक दिनसे कुछ महीने पश्चात अमान्य हो सकते हैं जब कोई URL काम करनेमें विफल रहता है, तो आप स्रोत वेबसाइटके शीर्ष स्तरपर जा सकते हैं और समाचार / लेखकी खोज कर सकते हैं।

अस्वीकरण: प्रकाशित समाचार / लेख विभिन्न स्रोतोंसे एकत्र किए जाते हैं और समाचार / आलेखकी जिम्मेदारी स्रोतपर ही निर्भर होते हैं। वैदिक उपासना पीठ या इसकी वेबसाइट किसी भी तरहसे जुड़ी नहीं है और न ही यहां प्रस्तुत समाचार / लेख सामग्रीके लिए जिम्मेदार है। इस लेखमें व्यक्त राय लेखक लेखकोंकी राय है लेखकद्वारा दी गई सूचना, तथ्यों या राय, वैदिक उपासना पीठके विचारोंको प्रतिबिंबित नहीं करती है, इसके लिए वैदिक उपासना पीठ जिम्मेदार या उत्तरदायी नहीं है। लेखक इस लेखमें किसी भी जानकारीकी सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता और वैधताके लिए उत्तरदायी है।

विडियो

© 2021. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution