जैविक खेती (Organic farming) (भाग-३)


जैविक खेतीके उद्देश्य
१. मृदा (मिट्टी) संरक्षणके उपायसे उसके स्वास्थ्यको बनाए रखना
२. पर्याप्त मात्रामें उच्च गुणवत्तावाला खाद्यान्न उत्पन्न करना

३. मिट्टीकी दीर्घकालीन उर्वरताको बनाए रखना एवं उसे बढाना

४. जैविक उर्वरकोंके उपयोगसे खेतीमें सूक्ष्म जीव, मृदा पादप और अन्य जीवोंके जैविक चक्रको प्रोत्साहित करना तथा बढाना

५. रसायनिक उर्वरकों और रसायनिक औषधियोंके उपयोगको रोकना

६. रसायनिक उर्वरकों और रसायनिक औषधियोंके दुष्परिणामको रोकना

७. कृषि पद्धति तथा उसके आसपासमें अनुवांशिक कृषि विविधताको बनाए रखना

८. कार्बनयुक्त उर्वरकका उपयोग

९. जीवाणु ‘खादों’का प्रयोग

१०. कृषि उत्पादके अवशेषोंका उचित उपयोग

११. जैविक पद्धतियोंद्वारा कीट व रोग नियन्त्रण

१२. फसल चक्रमें दलहनी फसलोंको अपनाना

१३. गोवंश उत्पाद एवं अवशिष्ट आधारित खेती करना, जिससे उनका भी संरक्षण हो



Leave a Reply

Your email address will not be published.

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2021. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution