हिन्दुवादियोंकी विजय, वन्दे मातरम न करवानेके निर्णयसे पलटे कमलनाथ !


जनवरी ३, २०१९

मध्य प्रदेशमें कमलनाथ शासन वंदे मातरमकी अनिवार्यतापर अस्थायी रूपसे प्रतिबन्ध लगानेके निर्णयपर अब पलट गया है । कमलनाथ शासनने वंदे मातरमका गायन और आकर्षक बनानेका निर्णय किया है, जिसके अनुसार अब अधिकारियों और कर्मचारियोंके साथ जनता भी वंदे मातरमके गायनमें सम्मिलित होगी । साथ ही अब पुलिस ‘बैंड’की धुनपर राष्ट्रगीत गाया जाएगा !
मध्य प्रदेशके सचिवालयमें लम्बे समयसे चले आ रहे एक नियमको एकाएक परिवर्तित कर दिया गया । यह परम्परा माहके प्रथम दिवस राष्ट्रगीत गाने की थी । कमलनाथद्वारा यह बन्द किए जानेपर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहानने कहा था, “यदि कांग्रेसको राष्ट्रगीतके शब्द नहीं आते हैं या राष्ट्रगीतके गायनमें लज्जा आती है तो मुझे बता दें । प्रथम तिथिको वल्लभ भवनके प्रांगणमें जनताके साथ वंदे मातरम मैं गाऊंगा !”

परन्तु अब नूतन निर्णयके अनुसार ‘पुलिस बैंड’ भोपालमें शौर्य स्मारकसे वल्लभ भवनतक यात्रा करते हुए धुन बजाएगा । भवन पहुंचते ही वंदे मातरम और राष्ट्रगान गाया जाएगा । इसमें अधिकारियों और कर्मचारियोंके साथ जनता भी सम्मिलित होगी ।

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रगीतपर प्रतिबन्धके पश्चात अपना स्पष्टीकरण देते हुए कमलनाथने यह कहा था, “जो लोग वंदे मातरम नहीं गाते हैं तो क्या वे देशभक्त नहीं है ? हमारा यह भी मानना है कि राष्ट्रीयता या देशभक्तिका सम्बन्ध हृदयसे होता है । इसे प्रदर्शित करनेकी आवश्यकता नहीं है । हमारी भी धर्म, राष्ट्रीयता और देशभक्तिमें आस्था है ।”

“यह हिन्दुवादियोंकी विजय है कि अब कांग्रेसको अपनी तथाकथित राष्ट्रभक्ति प्रदर्शित करनी पडेगी और वह भी ढोल नगाडोंके साथ !”- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

 

स्रोत : नभाटा



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution