‘मदरसे’में अनुसूचित जातिके युवकको बनाया बन्धक, बलपूर्वक धर्मान्तरण कराया, ‘मौलाना’ पलायन कर भागा 


१ नवम्बर, २०२१
           गारबपुर गांव निवासी दामोदरने ‘पुलिस’को बताया कि उसका बेटा अनुज जो एक श्रमिक था, ५ माहसे घर नहीं आया । कुछ लोग उसे चाकरी दिलवानेका प्रलोभन देकर देहली लेकर गए; उसके पश्चात उसका भ्रमणभाष बन्द हो गया । उसने जब बेटेको ढूंढनेका प्रयास किया तो उसे ज्ञात हुआ कि उसके बेटेको उत्तरप्रदेशके लखीमपुर खीरीके मोहम्मदी कोतवाली क्षेत्रमें बन्धक बनाकर रखा है । उसे मोहल्ला सरैयाके ‘मदरसा’में बन्धक बनाकर रखा था तथा उसका बलपूर्वक धर्मान्तरण करवाया गया था ।
           दामोदरने बेटेसे मिलनेका प्रयास किया तो उसे भगा दिया गया । उसने कस्बा चौकीमें ‘पुलिस’को बताया, तो ‘पुलिस’ने ‘मदरसे’ पहुंचकर  बेटेको ढूंढकर पिताको सौंपा । अनुजने बताया कि उसका बलपूर्वक धर्मान्तरण करके ‘बिलाल रजा’ नामकरण किया गया था ।
          ‘पुलिस’ने ६ लोगोंपर परिवाद प्रविष्ट कर आरोपपत्र दाखिल किया है । इनमें मुख्य आरोपी ‘मौलाना’ पलायन कर गया है । अन्य आरोपी शहबान रजा, मुकीम, अकलिम रजा, अफसर अली, इशहाक बन्दी बना लिए गए हैं । इसमें बलपूर्वक धर्मान्तरणके संग ‘एससी एसटी’ धाराभी लगाई गई है ।
        कट्टरपन्थी, अनुसूचित जाति, जनजातिके हितैषी बनते हैं; जबकि वे इन्हें हिन्दू मानकर जिहाद करते हैं । अनुसूचित जाति जनजातिको यह सत्य स्मरण रखना चाहिए । उत्तरप्रदेश ‘पुलिस’ शीघ्र ही मुख्य आरोपीको बन्दी बनानेमें सफल होगी तथा दोषियोंको कठोर दण्ड मिलेगा यही न्यायव्यवस्थासे अपेक्षा है । – सम्पादक, वैदिक उपाासना पीठ
 
 
स्रोत : ऑप इंडिया


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


सूचना: समाचार / आलेखमें उद्धृत स्रोत यूआरऍल केवल समाचार / लेख प्रकाशित होनेकी तारीखपर वैध हो सकता है। उनमेंसे ज्यादातर एक दिनसे कुछ महीने पश्चात अमान्य हो सकते हैं जब कोई URL काम करनेमें विफल रहता है, तो आप स्रोत वेबसाइटके शीर्ष स्तरपर जा सकते हैं और समाचार / लेखकी खोज कर सकते हैं।

अस्वीकरण: प्रकाशित समाचार / लेख विभिन्न स्रोतोंसे एकत्र किए जाते हैं और समाचार / आलेखकी जिम्मेदारी स्रोतपर ही निर्भर होते हैं। वैदिक उपासना पीठ या इसकी वेबसाइट किसी भी तरहसे जुड़ी नहीं है और न ही यहां प्रस्तुत समाचार / लेख सामग्रीके लिए जिम्मेदार है। इस लेखमें व्यक्त राय लेखक लेखकोंकी राय है लेखकद्वारा दी गई सूचना, तथ्यों या राय, वैदिक उपासना पीठके विचारोंको प्रतिबिंबित नहीं करती है, इसके लिए वैदिक उपासना पीठ जिम्मेदार या उत्तरदायी नहीं है। लेखक इस लेखमें किसी भी जानकारीकी सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता और वैधताके लिए उत्तरदायी है।

विडियो

© 2021. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution