बंगालमें मतदानके समय पुनः हिंसा भडकी, भाजपा प्रत्याशीके दलपर आक्रमण, मिदनापुरमें भाजपा कार्यकर्ताको गोली मारी गई !!


मई १२, २०१९



रविवार, १२ मईको लोकसभा मतदानके छठे चरणमें सात राज्योंकी ५९ सीटोंपर देशभरसे हिंसाके समाचार सामने आ रहे हैं । पश्चिम बंगालमें छठे चरणमें भी उपद्रव हुआ है । घाटल लोकसभा क्षेत्रसे भारतीय जनता पार्टीकी प्रत्याशी भारती घोषके दलपर आक्रमणकर तोडफोड की गई है !

घाटल संसदीय क्षेत्रसे बीजेपी प्रत्याशी भारती घोष रविवार प्रातः मतदान केन्द्रपर धक्का-मुक्कीके पश्चात रोने लगी । घोषने आरोप लगाया कि जिस समय वे अपने संसदीय क्षेत्र जा रही थी, उस समय तृणमूल कांग्रेसकी महिला समर्थकोंने उन्हें धक्का दे दिया ।

बीजेपीने इसके पीछे तृणमूल कांग्रेसके कार्यकर्ताओंपर आरोप लगाया है । उधर, छठे चरणका मतदान आरम्भ होनेसे ठीक पहले भिन्न-२ घटनोंमें तीन बीजेपी कार्यकर्ताओंपर आक्रमण हुए हैं ।

पूर्वी मिदनापुरमें बीजेपी कार्यकर्ता अनंत गुचैत और रणजीत मैतीको भागबानपुर क्षेत्रमें गत रात्रि गोली मारी गई । चोटिल अवस्थामें उन्हें चिकित्सालयमें प्रविष्ट कराया गया, जहांपर उनकी चिकित्सा चल रही है ।

जबकि, झाडग्रामके गोपीबल्ल्बपुर क्षेत्रमें भाजपा कार्यकर्ता रमन सिंहका शव मिला है । गत तीन चरणमें पश्चिम बंगालमें भारी हिंसा देखनेको मिली है । जहांपर इस हिंसाका मुख्य कारण बीजेपी और तृणमूल कांग्रेसके मध्य आपसी टकराव है ।

बीजेपी जहां पश्चिम बंगालमें अपने लिए अवसर देख रही है तो वहीं दूसरी ओर ममता बैनर्जी अपना किला बचाए रखना चाहती हैं ।

 

“इन कृत्योंके पश्चात एक बात स्पष्ट है कि तृणमूल अब राजनीतिक दल न होकर उपद्रवियोंका एक गुट बन चुका है । जब ये एक राज्यमें इतनी हत्याएं और हानि कर रहे हैं तो राष्ट्रीय स्तरपर होंगें तो क्या करेंगें, इसका अनुमान लगाया जा सकता है ।”- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

 

स्रोत : लाइव हिन्दुस्तान



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


सूचना: समाचार / आलेखमें उद्धृत स्रोत यूआरऍल केवल समाचार / लेख प्रकाशित होनेकी तारीखपर वैध हो सकता है। उनमेंसे ज्यादातर एक दिनसे कुछ महीने पश्चात अमान्य हो सकते हैं जब कोई URL काम करनेमें विफल रहता है, तो आप स्रोत वेबसाइटके शीर्ष स्तरपर जा सकते हैं और समाचार / लेखकी खोज कर सकते हैं।

अस्वीकरण: प्रकाशित समाचार / लेख विभिन्न स्रोतोंसे एकत्र किए जाते हैं और समाचार / आलेखकी जिम्मेदारी स्रोतपर ही निर्भर होते हैं। वैदिक उपासना पीठ या इसकी वेबसाइट किसी भी तरहसे जुड़ी नहीं है और न ही यहां प्रस्तुत समाचार / लेख सामग्रीके लिए जिम्मेदार है। इस लेखमें व्यक्त राय लेखक लेखकोंकी राय है लेखकद्वारा दी गई सूचना, तथ्यों या राय, वैदिक उपासना पीठके विचारोंको प्रतिबिंबित नहीं करती है, इसके लिए वैदिक उपासना पीठ जिम्मेदार या उत्तरदायी नहीं है। लेखक इस लेखमें किसी भी जानकारीकी सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता और वैधताके लिए उत्तरदायी है।

विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution