मौलाना सलमान नदवीने कहा, शरीयत मस्जिदको स्थानान्तरित करनेकी आज्ञा देता है, श्रीराम भी पैगम्बर !!


मार्च ८, २०१९


श्री श्री रविशंकरके साथ मिलकर अयोध्या विवादको सुलझानेके प्रयासमें लगे मौलाना सलमान नदवीका मानना है कि शरीयत मस्जिद स्थानान्तरित करनेकी आज्ञा देता है । भगवान श्रीराम बहुत बडे सामाजिक सुधारक थे, वह भी हमारे लिए पैगम्बर हैं ।


मौलाना सलमान नदवीने कहा कि मुसलमान मानते हैं कि विश्वमें एक लाख २४ सहस्र पैगंबर हुए हैं । वह (राम) भी अपने समयके पैगम्बर थे । मौलाना सलमान नदवीने श्री श्री रविशंकरके साथ अयोध्या विवादमें सन्धिका प्रयास आरम्भ किया था, उन्होंने कहा है कि इस्लामी शरीयत मस्जिद स्थानान्तरित करनेकी आज्ञा देता है और श्रीराम भी हमारे लिए एक पैगम्बर हैं । इसी कारण शान्तिके लिए मस्जिदके लिए दूसरे स्थानपर बडी भूमि लेकर सन्धि कर लेनी चाहिए । उन्होंने कहा कि इस्लामी शरियतमें मस्जिदको स्थानान्तरित करनेकी आज्ञा है । इसके लिए उनका दावा था कि खलीफा हजरत उमरने कूफा नगरमें एक मस्जिदको स्थानान्तरित करके उसके स्थानपर खजूरका बाजार बनवा दिया था ।

मौलाना नदवीने कहा कि सन्धिसे मानवताको बढावा मिलता है । मौलना सलमान नदवी दारुल उलूम नदवतुल उलेमा विश्वविद्यालयमें प्राध्यापक हैं । इस विश्वविद्यालयको उनके नाना अली मियांने बनाया था और वह ‘मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड’के प्रथम अध्यक्ष थे । मौलाना सलमान नदवी भी इसके सदस्य थे; परन्तु जब इन्होंने श्री श्री रविशंकरके साथ मिलकर अयोध्या विवादको सुलझानेके लिए अभियान चलाया तो बोर्डने विरोध करते हुए निकाल दिया था ।


“अपने वक्तव्यके लिए निस्सन्देह विवेकशील नदवी अभिनन्दनके पात्र हैं; प्रभु श्रीराम पैगम्बर नहीं हैं, वे वह परमसत्ता है, जिनसे सभी पैगम्बर आज्ञा पाते हैं । प्रभु श्रीरामके मन्दिरको बनवाने हेतु वैसे तो किसी पक्षकारकी आवश्यकता नहीं है । अयोध्या तो स्वयं सिद्ध भूमि है, जहां राजा राम अवतरित हुए थे । एक मुस्लिम आक्रान्ताके मन्दिरको तोडकर मस्जिद बनानेसे स्थितियां परिवर्तित नहीं होती है । आज भी वहांकी प्रत्येक ईंट श्रीराम नामका ही उद्घोष करती हैं ! और अब जब सभी पक्षकार सहमत भी हैं तब अब राम मन्दिरमें देरी न कर शीघ्रातिशीघ्र निर्माण करवाना चाहिए ।  ”- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

 

स्रोत : जागरण



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution