मोहन भागवतने कहा, अयोध्यामें ही राम मंदिर बन सकता है


जनवरी ३, २०१८

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघके प्रमुख मोहन भागवतने मंगलवार, २ जनवरीको यहां सेवासदन शिक्षण संस्थानके कार्यक्रमके समय कहा कि ‘अयोध्यामें केवल राम मंदिर ही बन सकता है । भगवान श्री रामके प्रति हमारी पूरी आस्था है ।’ इसके पूर्व मंगलवारको संघके महासचिव भैयाजी जोशीने राम मंदिरपर कहा था कि लोग और सत्तामें बैठे लोग भी अयोध्यामें राम मंदिरका निर्माण चाहते हैं ।

मोहन भागवतका यह वक्तव्य प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदीके उस साक्षात्कारके ठीक एक दिवस पश्चात आया, जिसमें उन्होंने कहा था कि राम मंदिरपर अध्यादेशका निर्णय न्यायिक प्रक्रिया पूर्ण होनेके पश्चात ही लिया जाएगा । साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि केन्द्र शासन अपने सभी उत्तरदायित्वोंका निर्वहन करेगा । बुधवार प्रातः विश्व हिन्दू परिषदने भी कहा था कि ‘हिन्दू न्यायालयके निर्णय तक प्रतीक्षा नहीं कर सकते हैं ! राम मंदिर निर्माणके लिए अध्यादेश लाना ही एकमात्र उपाय है ।’


भाजपा नेता और केन्द्रीय मन्त्री उमा भारतीने बुधवारको राम भक्तोंसे कहा कि वे प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदीके इस सुझावका समर्थन करें कि मन्दिर निर्माणके लिए विधान बनानेकी मांगपर विचार न्यायिक प्रक्रिया पूर्ण होनेके पश्चात ही किया जा सकता है ।

 

“जब सभी राम मन्दिर बनवानेके पक्षमें है तो बाधा कहांपर है ? स्पष्ट है कि धर्मनिष्ठा, स्वाभिमानकी ही कमी है और आदरणीय उमा भारतीजीको बताना चाहेंगें कि हिन्दू केवल श्री रामके साथ ही खडे हैं । यदि राम है, तो हिन्दू है और बातोंसे हिन्दू अब क्षुब्ध हो चला है; अतः केवल राम मन्दिर निर्माण ही समर्थनका आधार हो सकता है ।”- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

 

स्रोत : लाइव हिन्दुस्तान



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution