सबसे बडे मुस्लिम देशमें पूजे जाते हैं श्रीराम और हनुमान, मुद्रापर है गणेशजीका चित्र !


सितम्बर ६, २०१८

हम सभी जानते हैं कि इण्डोनेशिया सबसे बडा मुस्लिम देश है; लेकिन, हममें से अधिकतय लोग यह नहीं जानते कि इण्डोनेशियामें चौथी सबसे बडी हिन्दू जनसंख्या है । नेपाल, बांग्लादेशके पश्चात इस देशमें सबसे अधिक हिन्दू हैं । इण्डोनेशिया कुल १७००० द्वीप हैं और ३०० ज्वालामुखी वाला देश है । यहां महाभारत और भगवत गीताकी लोकप्रियता इतनी है कि इण्डोनेशियाकी राजधानी जकार्तामें कृष्णोपेडसाम नाम से श्रीकृष्णकी एक मूर्ति है । जहां अर्जुन और कृष्ण एक रथपर सवार दिखाई देते हैं । यह मूर्ति लोगोंको भगवत गीताके महत्वको समझानेके लिए कहा गया है, इसका अर्थ है बिना फलकी इच्छाके कर्म करते जाना ।

प्रायः हम विश्वके भिन्न-भिन्न देशोंको लेकर रोचक तथ्य सुनते और पढ़ते हैं; लेकिन कुछ बातें ऐसी होती हैं, जो भावनाओंसे जुडी होती है । भले ही विश्वमें धर्मको लेकर विचार भिन्न-भिन्न हैं; लेकिन कुछ देश ऐसे हैं, जो हमेशा एक ऐसी अमिट छाप छोडते हैं, जिस पर गर्व होता है । ऐसा ही एक देश है इण्डोनेशिया । इसे विश्वका सबसे बडा मुस्लिम जनसंख्या वाला देश माना जाता है । यहांकी मुद्रा भी भारतकी मुद्राकी भांति प्रचलित है । यहां ‘रूपियाह’ चलते है । आप इस बातको सुनकर विचित्र अवश्य लगेगा कि हिन्दू धर्म और भारतमें पूजनीय गणेश जीका चित्र विश्वके सबसे बडे मुस्लिम देश इण्डोनेशियाकी मुद्रापर अंकित है ।

विश्वके सबसे बडे मुस्लिम देश इण्डोनेशियाकी मुद्रापर गणेशजीका चित्र अंकित है । आपको बता दें कि यहां लगभग ८७.५ प्रतिशत जनसंख्या इस्लामको मानती है । वहां केवल ३ प्रतिशत हिन्दू है । इण्डोनेशियाकी मुद्राको ‘रूपियाह’ कहते हैं । वहां, २० सहस्त्रके नोटपर भगवान गणेशका चित्र अंकित है । वहां के लोगोंका मानना है कि गणेशजीके कारण ही वहांकी अर्थव्यवस्था सशक्त है ।

 

“हिन्दुस्तानके तथाकथित धर्मनिरपेक्षोंं और वामपन्थियोंके लिए यह एक शिक्षा है ! धर्मनिरपेक्षताके नामपर सदैव ईसाईयों और कठमुल्लोंके पक्षधर इसे देखकर भी नहीं सिखे तो आने वाले विनाशकालमें ईश्वर भी आपका रक्षण नहीं कर सकेंगे” – सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

 

स्रोत : जी न्यूज



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution