वासनान्ध रोशनने अपने मित्रोंके साथ केरलसे बच्चीको घरसे उठाया था, मुम्बईमें मिली !!


मार्च ३०, २०१९

 

केरलके कोल्लम जनपदसे अपहरण की गई युवती पुलिसको मुंबईमें मिली । केरल पुलिसके अनुसार कुछ अनभिज्ञ लोगोंने लडकीके घरमें घुसकर परिवार वालोंसे हाथापाई की थी और उसे उठाकर कर ले गए थे । बताया जा रहा है कि युवतीके साथ पकडा युवक भाकपाके (भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी) जनपद शाखा सचिवका पुत्र है ।

घटना कोल्लम जनपदके ओचिराकी है, जहां १८ मार्चको देर रात्रि तीन अज्ञात लोगोंने परिवार वालोंसे हाथापाई की थी । पुलिसके अनुसार ओचिराके वलियाकुलंगराके मूल निवासी विपिन पेक्जुआ, पियरीकुझीके प्यारी और वल्लिकवुके अजयनके प्रकरणमें सम्मिलित होनेके आरोपमें पुलिसने उन्हें बन्दी बनाया है । वहीं आरोपियोंसे मिली जानकारीपर पुलिस पहले बेंगलुरु, तत्पश्चात लडकीके मूल गांव राजस्थानके पालीमें भी छापा मारा था । पुलिसको लडकी मुंबईके पनवेलमें मोहम्मद रोशनके साथ मिली है । वहीं मुख्य आरोपी रोशनके पिता नवास एक भाकपाके जिला शाखा सचिव है ।


जांच कर रहे एसीपीने बताया कि दोनोंको आवश्यक प्रक्रियाओंके पश्चात पाया गया और बुधवार रात या गुरुवार प्रातःकाल दोनो केरल वापस आ जाएंगें । तब मुख्य आरोपी रोशनको न्यायालयमें प्रस्तुत किया जाएगा । आरम्भिक जांचमें पुलिसने यह बताया कि मुख्य आरोपी रोशन युवतीका निकटवर्ती था । पुलिसने यह भी कहा कि रोशनके साथी भी इस अपराधमें उसके साथ सम्मिलित थे ।


“धर्मान्धोंकी बढती संख्याने केरलमें भी ऐसे कुकृत्योंको जन्म दिया है और दुस्साहस इतना कि घरमें घुसकर युवतियोंको उठाकर ले जाते हैं । नारीविदके तथाकथित रक्षक केरलके मुख्यमन्त्री, तथाकथित समाजसेविकाएं कनकदुर्गा आदि, जिन्होंने सबरीमालाकी परम्परा तोडनेके लिए अपनी एडी-चोटीका बल लगा दिया, वे भी मौन है ! हिन्दुओ ! धर्मान्धोंसे अपनी बेटियोंके रक्षण हेतु स्वयंसिद्ध हो !”- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

 

स्रोत : जनसत्ता



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


सूचना: समाचार / आलेखमें उद्धृत स्रोत यूआरऍल केवल समाचार / लेख प्रकाशित होनेकी तारीखपर वैध हो सकता है। उनमेंसे ज्यादातर एक दिनसे कुछ महीने पश्चात अमान्य हो सकते हैं जब कोई URL काम करनेमें विफल रहता है, तो आप स्रोत वेबसाइटके शीर्ष स्तरपर जा सकते हैं और समाचार / लेखकी खोज कर सकते हैं।

अस्वीकरण: प्रकाशित समाचार / लेख विभिन्न स्रोतोंसे एकत्र किए जाते हैं और समाचार / आलेखकी जिम्मेदारी स्रोतपर ही निर्भर होते हैं। वैदिक उपासना पीठ या इसकी वेबसाइट किसी भी तरहसे जुड़ी नहीं है और न ही यहां प्रस्तुत समाचार / लेख सामग्रीके लिए जिम्मेदार है। इस लेखमें व्यक्त राय लेखक लेखकोंकी राय है लेखकद्वारा दी गई सूचना, तथ्यों या राय, वैदिक उपासना पीठके विचारोंको प्रतिबिंबित नहीं करती है, इसके लिए वैदिक उपासना पीठ जिम्मेदार या उत्तरदायी नहीं है। लेखक इस लेखमें किसी भी जानकारीकी सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता और वैधताके लिए उत्तरदायी है।

विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution