कश्मीर: मुठभेडमें मारे गए आतंकीके जनाजेमें मांने भी चलाई गोलियां, फायरिंगका वीडियो वायरल


श्रीनगर.  दक्षिण कश्मीर के शोपियां में मुठभेड़ में मारे गए आतंकी सद्दाम पद्दार के जनाजे का वीडियो वायरल हुआ है। जिसमें उसकी मां भी पुलिस कॉन्स्टेबल से आतंकी बने शख्स के हथियार से गोलियां चलाती हुई नजर आ रही है। पुलिस अधिकारियों ने वीडियो की जांच शुरू कर दी है। बता दें कि पद्दार हिज्बुल आतंकी बुरहान वानी का दोस्त था। सुरक्षाबलों ने रविवार को उसके अलावा 5 आतंकियों को मार गिराया था, इनमें कश्मीर यूनिवर्सिटी का एक असिस्टेंट प्रोफेसर मोहम्मद रफी बट भी शामिल था। उधर, आतंकियों के एनकाउंटर को लेकर पाकिस्तान ने भारत पर मानवाधिकार हनन का आरोप लगाया।

पद्दार की मां ने आतंकी को लगाया, फिर गोलियां दागीं

– न्यूज एजेंसी के मुताबिक, सद्दाम पद्दार के जनाजे में हिज्बुल आतंकी सैयद नवीद मुश्ताक भी मौजूद था। फायर करने से पहले एक घर की छत पर मौजूद पद्दार की मां ने नवीद को गले लगाया। फिर आतंकी के हथियार से हवा में एक से दो गोलियां चलाईं। उस वक्त शोपियां के हेफ इलाके में सैकड़ों लोग जमा थे। सोमवार को जनाजे का वीडियो वायरल हुआ।

– बता दें कि आतंकी नवीद पहले जम्मू-कश्मीर पुलिस में कॉन्स्टेबल था। वह पिछले साल फूड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के बाहर मौजूद पुलिस पोस्ट से 4 राइफल लेकर भाग गया था। बाद में उसने हिज्बुल मुजाहिदीन ज्वाइन कर लिया।

दक्षिण कश्मीर के थे मारे गए 5 आतंकी 

– शोपियां जिले के बड़िगांव में रविवार को सुरक्षाबलों ने हिज्बुल आतंकी सद्दाम पद्दार, मोहम्मद रफी बट, तौसीफ शेख, आदिल मलिक और बिलाल उर्फ मौलवी को ढेर किया था। सभी आतंकी दक्षिण कश्मीर के थे।
– इनमें पद्दार हिज्बुल का शीर्ष कमांडर और रफी बट यूनिवर्सिटी का असिस्टेंट प्रोफेसर था, जो शुक्रवार को लापता हुआ था। हिज्बुल में शामिल होने के 36 घंटे के अंदर की रफी को मारा गया।

भारत मानवाधिकारों का हनन कर रहा: अब्बासी

– पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने कहा, ”कश्मीर के मौजूदा हालात को लेकर पाकिस्तान चिंचित है। भारतीय सेना जिस तरह से मासूमों को मार रही है, यह मानवाधिकारों के खिलाफ है।”
– ”कश्मीर में 36 घंटे के अंदर 14 लोगों को मारा गया। संयुक्त राष्ट्र को कश्मीरियों के अधिकारों की रक्षा के लिए फैसले लेना चाहिए। उनका संघर्ष और मांगें एकदम सही हैं, पूरी दुनिया को इस बारे में सोचना चाहिए।”

हिज्बुल आतंकी बना मोहम्मद रफी बट कश्मीर यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट प्रोफेसर था।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


सूचना: समाचार / आलेखमें उद्धृत स्रोत यूआरऍल केवल समाचार / लेख प्रकाशित होनेकी तारीखपर वैध हो सकता है। उनमेंसे ज्यादातर एक दिनसे कुछ महीने पश्चात अमान्य हो सकते हैं जब कोई URL काम करनेमें विफल रहता है, तो आप स्रोत वेबसाइटके शीर्ष स्तरपर जा सकते हैं और समाचार / लेखकी खोज कर सकते हैं।

अस्वीकरण: प्रकाशित समाचार / लेख विभिन्न स्रोतोंसे एकत्र किए जाते हैं और समाचार / आलेखकी जिम्मेदारी स्रोतपर ही निर्भर होते हैं। वैदिक उपासना पीठ या इसकी वेबसाइट किसी भी तरहसे जुड़ी नहीं है और न ही यहां प्रस्तुत समाचार / लेख सामग्रीके लिए जिम्मेदार है। इस लेखमें व्यक्त राय लेखक लेखकोंकी राय है लेखकद्वारा दी गई सूचना, तथ्यों या राय, वैदिक उपासना पीठके विचारोंको प्रतिबिंबित नहीं करती है, इसके लिए वैदिक उपासना पीठ जिम्मेदार या उत्तरदायी नहीं है। लेखक इस लेखमें किसी भी जानकारीकी सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता और वैधताके लिए उत्तरदायी है।

विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution