तेलंगानामें भाजपा सत्तामें आई तो प्रत्येक वर्ष एक लाख गाय निशुल्क वितरण करेंगी !


नवम्बर १०, २०१८

तेलंगाना विधानसभा मतदानके अन्तर्गत भारतीय जनता पार्टीने अपने घोषणा पत्रमें प्रत्येक वर्ष एक लाख गायोंके नि:शुल्क वितरणका प्रस्ताव रखा है ! राज्यमें सात दिसम्बरको मतदान होंगे । भाजपाकी घोषणा पत्र समितिके अध्यक्ष एनवीएसएस प्रभाकरने शनिवार,१० नवम्बरको कहा, “त्योहार व अन्य दिनोंमें ग्रामीण क्षेत्रके आवश्यकताओंके मध्य नि:शुल्क गाय वितरणका प्रस्ताव है ।”

कृषि व ग्रामीण अर्थव्यवस्थामें गायके उपयोगको गिनाते हुए उन्होंने कहा कि घोषणा पत्रमें ‘लघु भारत भाषाई कल्याण बोर्ड’के गठनका भी प्रस्ताव है । बोर्ड बाहरसे कार्यके लिए हैदराबाद आने वाले भाषाई अल्पसंख्यकोंके हितोंका ध्यान रखेगा । सम्भावना है कि घोषणा पत्रको अगले सप्ताहके प्रारम्भमें आधिकारिक रूपसे जारी कर दिया जाएगा ।

भाजपाके घोषणा पत्रमें त्योहारके समय राज्य सरकारद्वारा संचालित बसोंमें किराएके अतिरिक्त शुल्कको छोडनेका भी प्रस्ताव है । इसके अतिरिक्त दीक्षाके समय देवालयोंकी यात्रा करने व सबरीमाला जाने वाले भक्तोंके लिए नि:शुल्क यात्राकी भी घोषणा की गई है । अन्य प्रस्तावोंमें पेट्रोल व डीजलपर कर माफ करने, प्रतियोगी परीक्षाओंके लिए छात्रोंको नि:शुल्क शिक्षण व केवल छह रुपयेमें (मासिक) स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराना भी सम्मिलित हैं ।

घोषणा पत्र समितिने पहले मद्य विक्रयके विनियमनका भी प्रस्ताव रखा था । तर्क था कि मद्यकी (शराबकी) असीमित उपलब्धता और खपतके कारण कई सामाजिक, वैधानिक और अन्य समस्याएं पैदा हो रही हैं । प्रभाकरने आरोप लगाया था कि संयुक्त आंध्र प्रदेश और वर्तमान तेलंगाना सरकार मद्य विक्रयको केवल आयका स्त्रोत मानती रहीं ! उल्लेखनीय है कि ११९ सदस्यों वाली तेलंगाना विधानसभामें भाजपाके केवल पांच विधायक हैं । भाजपाको आशा है कि इस मतदानमें उसके विधायकोंकी संख्या बढेगी ।

“तेलांगनाकी धर्मद्रोही सरकारको हटाने हेतु भाजपाकी हिन्दू हितोंकी घोषणाएं प्रशंसनीय है, परन्तु धरातलपर कार्य घोसणा अनुरुप नहीं होता है, यह अन्य राज्योंमें भी देखा जा सकता है ! गोमाताकी स्थिति भी छिपी नहीं है, क्योंकि केवल गाय देनेसे कार्य नहीं होगा, जबतक उसे कृषि व अन्य कार्यमें उपयोग नहीं होगा, गोचरण-भूमि नहीं भोगी, यह शिक्षण देना भी शासनका कार्य है !” – सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

 

स्रोत : दैनिक जागरण



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution