कलावा बांंध छद्म हिन्दू नाम धारणकर नवाजिशने हिन्दू युवतीसे यौन शोषणकर २.५ लाख ऐंठे, ‘लैपटॉप’से मिले कई युवतियोंके विवरण


०८ दिसम्बर, २०२१
         उत्तर प्रदेशके लखनऊमें ‘लव-जिहाद’के नूतन प्रकरणमें नवाजिश नामके एक मुसलमान युवकने स्वयंको विशाल ठाकुर बताकर एक युवतीसे मित्रता की, पश्चात उसका शारीरिक शोषणकर ढाई लाख रुपये भी ऐंठ लिए । पीडिताद्वारा परिवाद प्रविष्ट करवानेपर आरोपीको बन्दी बना लिया गया है । उसके ‘लैपटॉप’ और चलभाषसे अनेक लडकियोंके चित्र और चलभाष क्रमाङ्क ‘पुलिस’ने प्राप्त किए हैं ।
        आरोपित दिखावेके लिए हाथमें कलावा बांंधता था और स्वयंको हिन्दू रीति-रिवाजोंके अनुसार प्रस्तुत करता था । पुलिसको आशङ्का है कि आरोपितने कई और लडकियोंको भी अपने कपट प्रेमजालमें फंसाकर रखा है । इन लडकियोंके साथ भी विवाहके नामपर वह शारीरिक शोषण करता होगा और उनसे धन ऐंठता होगा ।
       हिन्दुओंका सुरक्षा कवच व जिहादियोंके सर्व षड्यन्त्रोंपर प्रत्याक्रमणकर ध्वस्त करनेके लिए सभीको सनातन धर्मका सटीकतासे अभ्यासकर आत्मसात करना ही होगा; अतः योग्य साधना व कालानुसार हिन्दू राष्ट्र स्थापनार्थ सभीको कृतिशील होना ही होगा । – सम्पादक, वैदिक उपाासना पीठ
 
 
स्रोत : ऑप इंडिया


Leave a Reply

Your email address will not be published.

सम्बन्धित लेख


सूचना: समाचार / आलेखमें उद्धृत स्रोत यूआरऍल केवल समाचार / लेख प्रकाशित होनेकी तारीखपर वैध हो सकता है। उनमेंसे ज्यादातर एक दिनसे कुछ महीने पश्चात अमान्य हो सकते हैं जब कोई URL काम करनेमें विफल रहता है, तो आप स्रोत वेबसाइटके शीर्ष स्तरपर जा सकते हैं और समाचार / लेखकी खोज कर सकते हैं।

अस्वीकरण: प्रकाशित समाचार / लेख विभिन्न स्रोतोंसे एकत्र किए जाते हैं और समाचार / आलेखकी जिम्मेदारी स्रोतपर ही निर्भर होते हैं। वैदिक उपासना पीठ या इसकी वेबसाइट किसी भी तरहसे जुड़ी नहीं है और न ही यहां प्रस्तुत समाचार / लेख सामग्रीके लिए जिम्मेदार है। इस लेखमें व्यक्त राय लेखक लेखकोंकी राय है लेखकद्वारा दी गई सूचना, तथ्यों या राय, वैदिक उपासना पीठके विचारोंको प्रतिबिंबित नहीं करती है, इसके लिए वैदिक उपासना पीठ जिम्मेदार या उत्तरदायी नहीं है। लेखक इस लेखमें किसी भी जानकारीकी सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता और वैधताके लिए उत्तरदायी है।

विडियो

© 2021. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution