आसुरी साम्राज्य पाकिस्तानका अन्त आवश्यक !!


असुरोंकी विशेषता होती है कि उन्हें यह ज्ञात होते हुए भी कि वे हार जाएंगे, तब भी वे देवताओंसे युद्ध करनेके लिए कुछ न कुछ उत्पात करते ही रहते हैं या उनके उद्युक्त करते रहते हैं; अंतत: परिणाम क्या होता है ?, यह तो सभी जानते ही हैं ! पाकिस्तान अपनी वृत्तिसे ही नहीं, जन्मसे भी आसुरी है, उसका जन्म द्वेषवश हुआ है, ओछी राजनीतिका परिणाम है, नापाक पाकका जन्म ! इसलिए अपनी प्रवृत्ति अनुरूप उसने १९४७ से ही अपने रंग दिखाने आरम्भ कर दिए थे ! आपको बता दें, १४ अगस्तको पाकिस्तानका जन्म हुआ और २२ अक्तूबरको उसने कश्मीरपर प्रथम बार आक्रमण किया ! अब उसके साथ सब लेखा-जोखा पूर्ण करनेका समय आ गया है, उसने अपने कुकृत्योंसे ‘आ बैल मुझे मार’वाली स्थिति स्वयं निर्माण की है ! बैलसे टकराओगे तो पटखनी तो खानी पडेगी और उसमें प्राण भी निकल सकते हैं, यह ध्यान रहे ! वस्तुत: उसके अस्तित्वको नष्ट करना भारतके लिए सीमापर ही नहीं, सम्पूर्ण भारतमें वह जो विष घोल रहा है, उसे दूर करनेका या इस देशमें सुख-शांति निर्माण करनेका एकमात्र पर्याय है !



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution