गोवामें पुस्तकोंमें नेहरूके स्थानपर आए सावरकर, कांग्रेसने कहा – अब गांधीकी बारी


जुलाई २६, २०१८

गोवामें माध्यमिक विद्यालयकी पुस्तकोंमें ‘राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ’ (आरएसएस) विचारधारा थोपे जानेका आक्षेप लगा है । कांग्रेसका आक्षेप है कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) जबसे सत्तामें आई है, वह संघकी विचारधारा थोपनेका कार्य कर रही है । कांग्रेसकी ओरसे प्रश्न किया गया है कि अभी पण्डित जवाहर लाल नेहरूका स्थान विनायक दामोदर सावरकरने लिया है, तो क्या कल महात्मा गांधी भी हटा दिए जाएंगे ? कांग्रेसकी छात्र शाखा ‘नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इण्डिया’के (एनएसयूआई) गोवाके अध्यक्ष अहराज मुल्लाने पुस्तकोंमें नेहरूको हटाकर सावरकरका चित्र लगानेकी जानकारी दी । छात्र नेता अहराज मुल्लाने कहा, “यह बहुत दुखकी बात है कि गोवा शिक्षा प्राधिकरणकी पाठ्य पुस्तकसे पण्डित नेहरूका चित्र हटा दिया गया और अपनी मुक्तिके लिए अंग्रेजोंको माफीनामा देने वाले सावरकरका चित्र लगा दिया गया है ।” कांग्रेसकी छात्र इकाईके नेताने कहा, “कल वे महात्मा गांधीके चित्रको भी हटा देंगे और प्रश्न पूछेंगे कि कांग्रेसने गत ६० वर्षोंमें क्या किया ?”

‘एनएसयूआई’के गोवा अध्यक्षने पत्रकारोंसे बात करते हुए कहा, “उन्हें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वे उस इतिहासको नहीं बदलेंगे, जो हमें हमारे पूर्वजोंने दिया है और जिसमें लिखा है कि कांग्रेसने गांधीजीके नेतृत्वमें अंग्रेजोंसे युद्धकर भारतको स्वतन्त्रता दिलाई थी ।” समाचार विवरणानुसार ‘भारत और समकालीन विश्व भाग-२ (लोकतान्त्रिक राजनीति)’ शीर्षक वाली पुस्तक इतिहास और राजनीति विज्ञानकी पाठ्य पुस्तक है । यह गोवामें १०वीं कक्षामें पढने वाले छात्रोंके पाठ्यक्रमका भाग है । गत वर्ष पाठ्यक्रमका भाग रही इस पुस्तकके ६८वें पृष्ठपर १९३५ की महाराष्ट्रके वर्धा स्थित सेवाग्राम आश्रममें नेहरू, महात्मा गांधी और मौलाना आजादका चित्र छपा था । अहराज मुल्लाने कहा है उस चित्रको हटा दिया गया है और उसी पुस्तकके वर्तमान संस्करणमें ठीक उसी पृष्ठपर जवाहर लाल नेहरूके स्थानपर विनायक सावरकरका रंगीन चित्र छपा हुआ है । मुल्लाने इसे देशके इतिहासका साम्प्रदायीकरण बताया है ।

स्रोत : जनसत्ता



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution