रामसेतु तक रेल लाइन बनानेके प्रस्तावको स्वीकृति !!


दिसम्बर २४, २०१८

राम मन्दिरका निर्माण भले ही मतदानसे पूर्व आरम्भ हो या नहीं ?, परन्तु रेलवेने रामसेतु तक पहुंचनेके लिए ‘रामेश्वरम धनुषकोटी विभाग’पर नूतन रेल लाइनको अपनी स्वीकृति दे दी है । लगभग २०८ कोटि रुपयोंके व्यय वाली इस परियोजनाको रेलमन्त्री पीयूष गोयलने भी अपनी स्वीकृति दे दी है । इसके बननेके पश्चात श्रद्धालु रेलयानसे सीधे रामसेतु तक पहुंच सकेंगे ।

सूत्रोंने बताया कि इस परियोजनापर व्यय चूंकि बहुत अल्प है; इसलिए इसे मन्त्रिमण्डलमें भेजनेकी आवश्यकता नहीं होगी और रेलवे शीघ्र ही इसपर निर्माण कार्य आरम्भ कर देगा । इसके साथ ही केन्द्र शासनने इसी मार्गपर पम्बन सेतुके समानान्तर ही एक और सेतु बनानेका प्रस्ताव भी स्वीकार कर लिया है । इस सेतुपर ४६८ कोटि रुपये व्यय होंगें ।
रेलवे अधिकारियोंका कहना है कि रामेश्वरमसे धनुषकोटीके मध्य रेल लाइन १९६२ में आए समुद्री तीव्र वायुके कारण नष्ट हो गई थी । यद्यपि धनुषकोटी रेलवे स्थानक (स्टेशन) अब भी विद्यमान है । अब रेलवेने निर्धारित किया है कि रामसेतु तक रामभक्त पहुंच सकें, इसलिए १७ किलोमीटरके भागमें नूतन रेल बनानेका प्रस्ताव स्वीकृत किया गया है । रेलवे अधिकारियोंका कहना है कि धनुषकोटीसे ही रामसेतु आरम्भ हो जाता है और उसके आगे श्री लंकाके तलाई मन्नारका क्षेत्र है ।
रेल अधिकारियोंका कहना है कि इस रेल लाइनको बनानेके लिए ‘डीपीआर’की प्रक्रिया अगले माह ही आरम्भ हो जाएगी । अधिकारियोंका कहना है कि रामसेतु तक जानेके लिए रास्तेमें आने वाले पम्बन सेतुके समानान्तर भी नया सेतु बनाया जाएगा, जिससे उसकी क्षमता बढ जाएगी । लगभग दो किलोमीटरके इस सेतुके बननेसे रामसेतु तक आना जाना और सरल हो जाएगा । इस सेतुके निर्माणमें यूरोपकी तकनीकका उपयोग किया जाएगा, ताकि जब इस सेतुके नीचेसे कोई समूद्री यान जाए तो सेतुका ६३ मीटर लंबा भाग रेल लाइन सहित ऊपर उठ जाएगा ।

 

स्रोत : नभाटा



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution