स्वतन्त्र होनेके पश्चात राजा सिंहके प्रखर बोल, प्रशासन, शासन अवैधानिक मस्जिद न बनाए, अन्यथा ढहाना आता है !!


मई ६, २०१९
  
५ मईको टीआरएस शासनके अन्तर्गत आनेवाली तेलंगाना पुलिसने तेलंगानाके एकमात्र हिन्दू विधायक राजा सिंहको बर्बर ढंगसे बन्दी बना लिया ! कारण यह था कि राजा सिंह हैदराबादके अम्बरपेट क्षेत्रमें बन रही अवैधानिक मस्जिदका विरोध कर रहे थे ।

‘एआइएमआइएम’के दबावमें चन्द्रसेखर रावके टीआरएस शासनने राजा सिंहको बर्बर ढंगसे बन्दी बना लिया; परन्तु हिन्दुओंके दबावके चलते रात्रि १ बजेके आसपास राजा सिंहको स्वतन्त्र कर दिया गया ।

उसके पश्चात सोमवार, ६ मईको राजा सिंहने टीआरएस शासन, ‘एआइएमआइएम’ और प्रशासनको अवैधानिक मस्जिदके निर्माणपर एक बडा सन्देश दिया है ।


राजा सिंहने बताया कि अम्बरपेट क्षेत्रमें एक मुस्लिम व्यक्तिको प्रशसानने २ कोटिसे अधिक रूपए दिए और उससे एक भूमि ले ली । बादमें ‘एआइएमआइएम’ और उसके लोगोंने वहां पुरानी मस्जिदकी बात कहनी आरम्भ कर दी, ताकि भूमिपर पुनः अवैध अधिकार कर सके और इसके लिए एक मस्जिदका निर्माण होने लगा ।

राजा सिंहका कहना है कि शासन, ‘एआइएमआइएम’ और प्रशासन ऐसे मस्जिदकी सहयता न करे; अन्यथा हमे ढहाना भी आता है !! वहां उस क्षेत्रमें मस्जिद बनाकर हिन्दुओंके दमनका प्रयास है और हिन्दू इसे सहन नहीं करेगा । राजा सिंहने कहा कि शासन और प्रशासन अवैधानिक निर्माणको रोके ताकि शान्ति बनी रहे ।

 


“जहां आज सभी विधायकसे लेकर सांसद तुष्टिकरणमें व्यस्त हैं और इसी तुष्टिकरणका आश्रय लेकर ही आज स्थान-२ पर अवैध मस्जिदोंका निर्माण हो रहा है, जिनमें और तो कुछ नहीं वरन जिहादकी शिक्षा लेकर आतंकी ही सज्ज हो रहे हैं, ऐसेमें विधायक राजा सिंह तेलंगाना शासनके इस कृत्यके विरुद्व अभिनन्दनके पात्र है ।   अभिनन्दनके पात्र है ।”- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

 


स्रोत : डीबीएन

 



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution