सबरीमालामें प्रवेशके प्रयासपर रेहाना फातिमाको मुस्लिम जमातने दिया ‘धर्म निकाला’ !


अक्तूबर २२, २०१८

रेहाना फातिमाका मुस्लिम समुदायने धर्म निकाला कर दिया है । उनके कुटुम्बके लिए भी मुस्लिम समुदायने यह दण्ड निर्धारित किया है । केरलके सबरीमालामें प्रवेश करनेके प्रयास करनेपर रेहाना फातिमाका धर्म निकाला किया गया है । केरलकी मुस्लिम समुदाय परिषदने कहा कि सामाजिक कार्यकर्ता रेहाना फातिमाने सबरीमाला देवालयमें प्रवेश करनेका प्रयास कर लाखों हिन्दू भक्तोंकी भावनाओंको आहत किया है । मुस्लिम समुदाय परिषदके अध्यक्ष ए पूनकुंजूने शनिवार, २० अक्टूबरको समाचार माध्यमोंको दिए एक वक्तव्यमें कहा कि रेहाना फातिमाको मुस्लिम समुदायसे बाहर कर दिया गया है । उन्होंने यह भी कहा कि परिषदने एर्णाकुलम केन्द्रीय मुस्लिम समुदायको निर्देश दिया है कि रेहाना और उनके कुटुम्बको महल्लुकी सदस्यतासे भी बाहर किया जाए ! वक्तव्यमें कहा गया कि रेहानाके कार्यने लाखों हिन्दू भक्तोंको आहत किया है, उनका कार्य हिन्दू समुदायके रीति-रिवाजोंके विरुद्घ भी था । पूकुंजूने कहा, ”रेहाना, जिन्होंने ‘किस ऑफ लव’ आन्दोलनमें भाग लिया था और चलचित्रमें नग्न प्रदर्शन किया था, उन्हें मुस्लिम नाम प्रयोग करनेका कोई अधिकार नहीं है !”

जब रेहाना पुलिसबलकी भारी सुरक्षाके मध्य भगवान अयप्पाके देवालयकी यात्रापर निकली थीं तो अज्ञात लोगोंने उनके घरमें कथित रूपसे तोडफोड की । भगवान अयप्पाके भक्तोंके भारी विरोध प्रदर्शनके चलते वह देवालयमें प्रवेश नहीं कर पाई थीं । रेहाना जब देवालयके लिए रवाना हुई थीं तो लोग उनके पनमपिल्ली नगर स्थित घरपर पहुंच गए थे ।

गत वर्ष रेहाना उस समय समाचारोंमें आ गई थीं जब उन्होंने तरबूजके साथ एक नग्न चित्र खिंचवाकर कोझीकोडके महाविद्यालयके एक प्राध्यापककेद्वारा की गई कथित अश्लील टिप्पणीका विरोध किया था । रेहानाके विरुद्घ धार्मिक भावनाओंको आहत करनेको लेकर एक प्रकरण भी प्रविष्ट कराया गया है ।

 

“जीवन ईश्वरका दिया बहुमूल्य उपहार है, जो नृशंस जीव इसका दुरुपयोग कर ईश्वरीय सत्ताको चुनौती देने, राष्ट्रमें अराजकता फैलाने जैसा महापाप करें, वह धर्म,राष्ट्रसे च्युत होनेके साथ ईश्वरीय दण्डका भी अधिकारी हो जाता है !”- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

 

स्रोत : जनसत्ता



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution