साधना क्यों करें ? (भाग – ३)


साधनासे सकाम और निष्काम दोनों ही ध्येयकी पूर्ति होती है; अतः यह लौकिक एवं पारलौकिक दोनों ही सुखकी इच्छा रखनेवालोंके लिए उपयोगी है । साधना करनेसे मनुष्य जीवन सार्थक होता है, अर्थात मनुष्यके जन्म लेनेका मूलभूत उद्देश्य पूर्ण होता है ।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution