मात्र एक शतकमें साम्यवादकी दुर्दशाका कारण !


 om1

अध्यात्मके प्रारब्ध शब्दकी और तथा ईश्वरकी ओर, पूर्ण रूपेण दुर्लक्ष करनेके कारण साम्यवाद १०० वर्षोंमें ही समाप्त होनेको आया है  – परात्पर गुरु डॉ . जयंत आठवले



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution