मोक्षकी अभिलाषा लेकर पुत्रकी अस्थियां स्पेनसे लाकर गंगामें प्रवाहित की !


नवम्बर ११, २०१८

स्पेनके बार्सिलोना निवासी मारिया टेरेसाने अपने पुत्र खोरदीको मोक्षकी कामनासे उसकी अस्थियोंको शनिवार, १० नवम्बरको मणिकर्णिका घाटपर गंगामें प्रवाहित किया ! बार्सिलोना निवासी खोरदीकी मौत ३६ वर्षकी आयुमें १५ मार्च २०१८ को हो गर्ई थी । उसका दाह संस्कार भी हिन्दू रीति रिवाजसे स्पेनके टेररसामें किया गया था ।
विज्ञापन

खोरदीकी मां मारिया टेरेसाने बताया कि खोरदीने मरने से पूर्व अपने पिता गिजेर्मोसे अपनी अस्थियोंको देवोंके देव महादेवकी नगरी काशीमें मां गंगामें प्रवाहित करनेकी अंतिम इच्छा प्रकट की थी; इसलिए खोरदीकी अस्थियोंको लेकर काशी पहुंची । काशी पहुंचनेपर अपने पुत्र खोरदीकी अंतिम इच्छा पूर्ण करनेके लिए उसने एक सहायकसे सम्पर्क किया और इसे शनिवारको पूरे विधि विधानसे अस्थियोंका विसर्जन किया गया । मारियाने कहा पुत्रकी इतनी आस्था थी तो भगवान शंकर भी मेरे पुत्रको अवश्य मोक्ष प्रदान करेंगे ।

“भारतमें रहते हुए मैकॉले शिक्षित तथाकथित बुद्धिवादी (बुद्धिहीन) अन्तिम संस्कारको प्रदूषण बताकर ‘इलैक्ट्रिक व सीएनजी अन्तिम संस्कार’की बातें करते हैं, और वहीं विदेशी इसके महत्वको समझ वही पालन करते हैं, हिन्दुओंकी गत दशकोंमें कितना मानसिक पतन हुआ है, इसीसे ज्ञात होता है !”- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

 

स्रोत : अमर उजाला



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution