हिन्दू धर्ममें श्राद्धका विधान


मृत व्यक्तिकी जीवात्मा किसी विषयसे आसक्त हो अटक न जाए, इस लिए हिन्दू धर्मंमें श्राद्धका विधान बताया गया है | श्राद्धके विधानसे मृत व्यक्तिकी जीवात्मा यदि कसी कारणवश किसी विषय-वासनामें अटक गई हो तो श्राद्धसे उत्पन्न शक्ति उस जीवात्माको मृत्योपरांतकी यात्रामें शक्ति प्रदान करता है | – (पू.) तनुजा ठाकुर (संस्थापिका, वैदिक उपासना पीठ)



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2021. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution