श्रीगुरु उवाच


हिन्दुओ, अपना आकाशवाणी (रेडियो स्टेशन) तथा दूरदर्शन केन्द्र (टीवी चैनल) प्रारम्भ करो !
ईसाई तथा इस्लाम पन्थियोंके सैकडों आकाशवाणी तथा दूरदर्शन केन्द्र हैं, जो दिनरात उनके पन्थोंकी सीख देनेके साथ अन्य पन्थोंपर टिप्पणी करते हैं ! हिन्दुओंका एक भी आकाशवाणी अथवा दूरदर्शन केन्द्र नहीं है । हमें अपने आकाशवाणी अथवा दूरदर्शन केन्द्रसे अन्य पन्थियोंपर टीका टिप्पणी नहीं करना है, हिन्दुओंको धर्मशिक्षण देना है । इसके लिए प्रयत्नरत रहते हुए ईश्वरसे प्रार्थना करेंगे ।’



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution